Tag: Central

ISRO वैज्ञानिकों की सैलेरी पर चली सरकारी कैंची: मिशन चंद्रयान-2 से पहले सरकार ने काटी तनख्वाह

ISRO वैज्ञानिकों की सैलेरी पर चली सरकारी कैंची: मिशन चंद्रयान-2 से पहले सरकार ने काटी तनख्वाह

देश की तरक्की में वैज्ञानिकों बड़ा योगदान होता है एक तरफ ISRO वैज्ञानिक Chandrayaan-2 की लॉन्चिंग में लगे हैं, देश का नाम ऊंचा करने के लिए दिन-रात एक कर रहे हैं. वहीं, दूसरी तरफ केंद्र सरकार इसरो के वैज्ञानिकों की...

साहित्य : तीन साल में चले ढाई कोस

साहित्य : तीन साल में चले ढाई कोस

संस्कृति और कला के क्षेत्र में बदलाव की आहट सुनाई दी थी. आजादी के बाद पहली बार केंद्र में किसी गैर कांग्रेसी सरकार को जनता ने पूर्ण बहुमत से सत्ता सौंपी थी. बहुमत के अलावा एक और बात जिसको रेखांकित...

सरकार की बेशर्मी और बेहयाई से लोग नग्न होने पर मजबूर

सरकार की बेशर्मी और बेहयाई से लोग नग्न होने पर मजबूर

इस कहानी को प़ढने की जरूरत नहीं है. सिर्फ तस्वीर देखिए. एक-एक तस्वीर हजार शब्दों की कहानी को खुद में समेटे हुए है. इन तस्वीरों को देखने के बाद अगर आपकी आत्मा आपको नहीं झकझोरती, तो दो मिनट के लिए...

चुनाव आयोग ने केंद्र से कहा- बजट में ना करें चुनावी राज्यों के लिए स्कीम का ऐलान

चुनाव आयोग ने केंद्र से कहा- बजट में ना करें चुनावी राज्यों के लिए स्कीम का ऐलान

चुनाव आयोग ने केंद्र सरकार से कहा है कि वो बजट में चुनावी राज्यों के लिए किसी स्कीम का ऐलान ना करे. कमीशन ने यह भी कहा है कि यूपी समेत 5 चुनावी राज्यों के अचिवमेंट पर भी बजट स्पीच...

लेवी की करोड़ों की राशि ठिकाने लगाने में लगे नक्सली

लेवी की करोड़ों की राशि ठिकाने लगाने में लगे नक्सली

बिहार-झारखण्ड के नक्सल प्रभावित सीमावर्ती क्षेत्रों के ग्रामीण इन दिनों काफी दहशत में हैं. सक्रिय नक्सली संगठन लेवी में वसूले गए करोड़ों के हजार व पांच सौ के नोट ग्रामीणों के सहारे एक्सचेंज कराने में लगे हैं. गया जिले के...

अमित शाह जी, राजस्थान की तरफ देखिए

अमित शाह जी, राजस्थान की तरफ देखिए

राजस्थान एक ऐसा प्रदेश है जिसे भारतीय जनता पार्टी अपने सुशासन का बेहतर उदाहरण मानती है. ऐसा ही दूसरा उदाहरण मध्य प्रदेश है. मध्यप्रदेश में इतनी हत्याएं हो चुकी हैं कि उसकी जांच के लिए  सुप्रीम कोर्ट ने सीबीआई को...

कौशल विकास से कैसे मिलेगा रोज़गार : संगठित क्षेत्र की नौकरियों में बड़ी गिरावट

कौशल विकास से कैसे मिलेगा रोज़गार : संगठित क्षेत्र की नौकरियों में बड़ी गिरावट

केंद्र में एनडीए की सरकार बने दो साल से अधिक हो गए हैं, लेकिन बेराजगारी में कोई कमी नहीं आई. 2013-2014 के मुकाबले संगठित क्षेत्र में 68 प्रतिशत रोजगार की कमी हुई है. सरकार कई तरह के दावे कर रही...

संस्कारी सेंसर बोर्ड बनेगा संवेदनशील?

संस्कारी सेंसर बोर्ड बनेगा संवेदनशील?

केँद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड, जिसे हम सब लोग सेंसर बोर्ड के नाम से जानते हैं, पिछले कई सालों से विवादों में है. दो हजार चौदह में सेंसर बोर्ड के सीईओ पर सत्तर हजार की घूसखोरी का आरोप लगा था और...

धान किसानों के आंसू और बेदर्द राजनीति

धान किसानों के आंसू और बेदर्द राजनीति

सूबे के किसान इन दिनों अपनी किस्मत को कम और धान पर हो रही राजनीति को ज़्यादा कोस रहे हैं. यह पहली बार नहीं है, जब किसान रात-दिन की मेहनत से उपजाई हुई धान की फसल औने-पौने दामों पर बेचने...

जीएसटी और व्यापार : दुनिया के साथ क़दम से क़दम मिलाने का मा़ैका

जीएसटी और व्यापार : दुनिया के साथ क़दम से क़दम मिलाने का मा़ैका

कर (टैक्स) एक ऐसी प्रकिया है, जिसके तहत प्रत्येक नागरिक देश को कुछ न कुछ धनराशि देता है और वही धनराशि देश को चलाने और देश के विकास में काम आती है. इसलिए प्रत्येक नागरिक का यह कर्तव्य बनता है...

सरकारी निष्क्रियता का परिणाम : महंगाई बेलगाम

सरकारी निष्क्रियता का परिणाम : महंगाई बेलगाम

पिछले कुछ वर्षों से महंगाई ने जैसे देश में अपना आशियाना सा बना रखा है. सरकार का न तो बाजार पर कोई नियंत्रण है और न ही जमाखोरों पर. सरकार की निष्क्रियता का ही परिणाम है कि आवश्यक वस्तुओं की...

बुनकरों की बदहाली कब दूर होगी

बुनकरों की बदहाली कब दूर होगी

रहमान मियां से दशाश्‍वमेध घाट पर मुलाकात हुई थी. वही दशाश्‍वमेध घाट, जहां की गंगा आरती देखने के लिए देश और परदेस से पर्यटक इकट्ठा होते हैं. रहमान मियां एक बुनकर भी हैं. मुझे अच्छी तरह याद है कि दिल...

दिल्ली का बाबू :अ-मित्रवत माहौल

दिल्ली का बाबू :अ-मित्रवत माहौल

हाल में जब केरल के नवनियुक्त राज्यपाल पी सथाशिवम दिल्ली आए, तो प्रोटोकॉल के अनुरूप उन्हें रिसीव करने न तो राज्य के रेजिडेंट कमिश्‍नर गणेश कुमार पहुंचे और न डिप्टी कमिश्‍नर बिस्वनाथ सिन्हा. सूत्रों का कहना है कि सथाशिवम राज्यपाल...

मीडिया की साख से मत खेलिए

मीडिया की साख से मत खेलिए

अब सार्वजनिक जीवन में भाषा की मर्यादा का कोई मतलब ही नहीं रहा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा और महाराष्ट्र के चुनाव प्रचार अभियान में जिस भाषा-शैली का इस्तेमाल किया, वैसी भाषा-शैली का इस्तेमाल इससे पहले किसी भी प्रधानमंत्री ने...

आपदा प्रबंधन : राहत देने वाला खुद आफत में

आपदा प्रबंधन : राहत देने वाला खुद आफत में

अभी जम्मू-कश्मीर में आई बाढ़ ने फिर से अपना भयानक रूप दिखाया. अगर सेना के जवान चौकस न होते और उनकी मदद न मिलती, तो क्या हाल होता, इसका अंदाजा लगाने में भी डर लगता है. सेना ने वायुसेना की...

बिहार दवा घोटाला : निशाने पर नीतीश

बिहार दवा घोटाला : निशाने पर नीतीश

बिहार में स़िर्फ दवा खरीद के नाम पर नहीं, चिकित्सा उपकरणों, दवा की जांच, मरीजों के लिए सुख-सुविधाओं के नाम पर घोटाले का खेल चलता रहा है. राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन (एनएचआरएम) के धन की अलग-अलग तरीकों से प्रभावशाली सामाजिक...

यह ऐतिहासिक फैसला है

यह ऐतिहासिक फैसला है

तेजाब का जख्म तो ठीक हो जाता है, लेकिन वह अपने निशान कभी नहीं छोड़ता. जो निशान शरीर पर पड़ते हैं, उनसे ज़्यादा गहरे निशान दिलो-दिमाग पर पड़ जाते हैं, जो सोते-जागते हर वक्त कचोटते हैं, स़िर्फ पीड़ित को नहीं, बल्कि...

क्या मोदी झुक जाएंगे अमेरिका के सामने

क्या मोदी झुक जाएंगे अमेरिका के सामने

जिस देश में भूख से मौत होती हो, खाने की कमी से बच्चे कुपोषण का शिकार होते हों और जहां सरकार को खाद्य सुरक्षा जैसा क़ानून बनाना पड़ता हो, क्या वह देश कभी विश्‍व व्यापार संगठन यानी डब्ल्यूटीओ की उस...

मोहनलालगंज कांड पर राजनाथ मुलायम क्यों…!

मोहनलालगंज कांड पर राजनाथ मुलायम क्यों…!

राजनीतिक विश्‍लेषकों का तो यह कहना है कि लोस चुनाव में राजनाथ की राह को पहले मुलायम सिंह ने अहम भूमिका निभाई और केंद्र में सत्तासीन होने के बाद अब राजनाथ की बारी आ गई थी कि वे सपा प्रमुख...

दिल्ली का बाबू : दिल्ली से जाने में आनाकानी

दिल्ली का बाबू : दिल्ली से जाने में आनाकानी

केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर तैनात कुछ बाबू दिल्ली में जड़ जमा चुके हैं और अब अपने मूल कैडर में लौटने के प्रति अनिच्छुक हैं. मानव संसाधन विकास मंत्रालय में बतौर संयुक्त सचिव अमित खरे का कार्यकाल ख़त्म हो रहा है और...

नहीं खत्म हुआ बरौनी खाद कारखाने का इंतजार

नहीं खत्म हुआ बरौनी खाद कारखाने का इंतजार

रेल बजट की तरह ही आम बजट ने भी बेगूसराय को निराश किया है. जिलावासियों को उम्मीद थी कि आम बजट में बेगूसराय के विकास के लिए कुछ न कुछ प्रावधान अवश्य किया जाएगा. लेकिन पिछली सरकारों की तरह मोदी...

नामी कंपनियां बना रहीं नकली सीमेंट

नामी कंपनियां बना रहीं नकली सीमेंट

देश की गगनचुंबी इमारतें ख़तरे में हैं, पुल ख़तरे में हैं, बांध ख़तरे में हैं और ख़तरे में है करोड़ों लोगों की ज़िंदगी. वजह यह कि नामी-गिरामी सीमेंट कंपनियां नकली सीमेंट बनाकर उसे बाज़ार में उतार रही हैं. नकली सीमेंट...

जजों की नियुक्ति सरकार का विशेषाधिकार है

केद्र सरकार द्वारा गोपाल सुब्रह्मण्यम को सुप्रीम कोर्ट का न्यायाधीश न नियुक्त करने के निर्णय ने एक बार फिर से सुप्रीम कोर्ट के जजों की नियुक्ति की प्रक्रिया चर्चा का विषय बना दी है. 1993 तक जजों की नियुक्ति की...

नहीं मिल रहे पटना और दिल्ली के सुर

नहीं मिल रहे पटना और दिल्ली के सुर

चुनाव के वक्त यह अक्सर कहा जाता है कि दिल्ली में जिसकी सरकार हो, अपने यहां भी वही सरकार चुनिए, ताकि केंद्र और राज्य में बेहतर तालमेल बना रहे और सूबे का विकास हो सके. बहुत हद तक यह आजमाया...

बिजली के लिए जिम्मेदार कौन

बिजली के लिए जिम्मेदार कौन

गर्मियों का मौसम आते ही देश में बिजली आपूर्ति में कमी कोई असामान्य बात नहीं है. पिछले दिनों जैसे-जैसे मौसम का मिज़ाज बदल रहा था और तापमान अपने पिछले तमाम कीर्तिमान तोड़ रहा था, वैसे-वैसे राजधानी समेत देश के कई...

क्या अपनी हार से सबक सीखेगी सपा और बसपा

क्या अपनी हार से सबक सीखेगी सपा और बसपा

लोकसभा चुनाव के नतीज़े उम्मीदों के अनुसार नहीं आने पर सपा नेतृत्व ने 36 दर्जा प्राप्त मंत्रियों को बर्ख़ास्त कर दिया है. आशंका है कि आने वाले दिनों में कुछ मंत्रियों पर भी गाज गिर सकती है. उन विधायकों से...

समेकित बाल विकास योजना का सच

समेकित बाल विकास योजना का सच

भारत सरकार द्वारा 1975 में समेकित बाल विकास योजना (आईसीडीएस)  की शुरुआत की गई थी, जिसके अंतर्गत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में जनसंख्या के आधार पर आंगनवाड़ी एवं लघु आंगनवाड़ी केंद्र संचालित किए जाते हैं. योजना का मुख्य उद्देश्य 0...

दिल्ली का बाबू : चक्रवर्ती के इस्ती़फे की वजह

दिल्ली का बाबू : चक्रवर्ती के इस्ती़फे की वजह

भारतीय रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के सी चक्रवर्ती ने अपने कार्यकाल की समाप्ति से तीन महीने पहले जब इस्तीफ़ा दिया था, तो उस समय बहुत आश्‍चर्यचकित हुए थे. उन्होंने अपने इस्ती़फे की बात किसी को नहीं बताई थी. क्या...

भ्रष्ट और ख़तरनाक है भारत

भ्रष्ट और ख़तरनाक है भारत

अमेरिका ने भारत में सुरसा की तरह मुंह बाए जा रहे भ्रष्टाचार पर भारत को आईना दिखाया है, दूसरी ओर आंक़डे बताते हैं कि भारत खतरनाक देश है, लेकिन भारत ने भ्रष्टाचार और बम ब्लास्ट के हालातों से बिग़डे अपने...

Input your search keywords and press Enter.