rahul gandhi accept that upa din't fullfill its promise to distribute employment

नई दिल्ली: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने ये बात स्वीकार कर ली है कि यूपीए सरकार ने एक दिन में 30 हजार नौकरियां देने का जो वादा किया था, वह उसे पूरा नहीं कर सकी थी. इसके साथ ही राहुल ने यह भी कहा है कि वर्तमान में बीजेपी की अगुआई वाली एनडीए सरकार भी वर्तमान दर से इस लक्ष्य को छूने में नाकाम रहेगी।

आपको बता दें कि यह बात राहुल ने अमेरिका के प्रिंसटन यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट्स और फैकल्टी मेंबर्स को संबोधित करते हुए कही. राहुल के मुताबिक, लोगों के मन में अब काफी असंतोष पैदा चुका है। उन्होंने कहा कि लोगों को हमसे शिकायत थी और अब मोदी सरकार से भी उन्हें यही शिकायत है.
साथ ही उन्होंने यह भेई कहा कि कांग्रेस की अगुआई वाली यूपीए सरकार को नौकरी देने के मोर्चे पर मिली नाकामी ही पीएम मोदी के उदय की वजह है।

किसी भी बड़े नेता के लिए ऐसी बात बोलना मुश्किल होता है लेकिन राहुल गांधी ने अपनी सरकार के दौरान हुई गलतियों को मानने में ज़रा भी हिचकिचाहट नहीं दिखाई.

राहुल का मानना है कि जीत के बावजूद बीजेपी यह नहीं समझ पा रही कि नौकरियां पैदा करने से जुड़े वादे को पूरा करना कितना जरूरी है। कांग्रेस नेता के मुताबिक, असली समस्या यह है कि मोदी मुद्दों से भटका देते हैं और समस्या पर बात करने के बजाए दूसरे पर उंगली उठा देते हैं। राहुल ने यह भी कहा कि नौकरियां पैदा करने के मोर्चे पर पीएम मोदी का रेकॉर्ड ‘बहुत अच्छा’ नहीं है। हालांकि, उन्होंने ‘मेक इन इंडिया’ के मकसद की तारीफ की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here