देश का एक बड़ा हिस्सा भीषण गर्मी की चपेट में है, वहीं कई शहरों में भारी बारिश हो रही है. मुम्बई में रविवार देर रात से हो रही बारिश के कारण निचले इलाकों में पानी भर गया है. इसका सबसे ज्यादा असर वेस्टर्न, हार्बर और सेंट्रल रेलवे लाइन के ऑपरेशन पर पड़ा है. सोमवार सुबह लोकल ट्रेनें 15-20 मिनट की देरी से चलीं. बारिश ने मुम्बई के ट्रैफिक को एक तरह से रोक दिया है. सांताक्रूज, वडाला, अंधेरी, बांद्रा, हिंदमाता, दादर समेत खार सबवे, मलाड सबवे, अंधेरी सबवे और सायन फ्लाईओवर पर लंबा जाम देखा गया.

भारी बारिश के कारण मुम्बई में जान-माल के नुकसान की भी खबर है. एमजी रोड इलाके में पेड़ गिरने से 2 लोगों की मौत हो गई है, वहीं 5 जख्मी हैं. ठाणे में दीवार गिरने के कारण 13 साल के एक लड़के की जान चली गई. मुम्बई वालों के लिए यह बारिश इसलिए भी चिंता की बात है, क्योंकि आने वाले दो दिनों इसमें कमी की उम्मीद नहीं है. मौसम विभाग के अनुसार, 27 जून तक मुंबई में 30 से 40 मिमी बारिश होने का अनुमान है. मुंबई और उससे सटे इलाकों में 27 जून तक रोजाना 30 से 40 मिमी बारिश हो सकती है.

गौरतलब है कि मुंबई में मानसून ने 7 जून को दस्तक दी थी, लेकिन उसके बाद मानसून कमजोर ही रहा. मौसम विभाग ने बताया है कि सांताक्रूज में रविवार सुबह 8.30 बजे से शाम 8 बजे तक 94.7 मिमी बारिश दर्ज की गई है. उधर, गुजरात में भी बारिश से लोग हलकान हैं. दक्षिण गुजरात के कई इलाकों में पिछले 24 घंटे से तेज बारिश हो रही है. वलसाड शहर में 5 इंच और जिले के उमरगांव में 8 इंच बारिश दर्ज की गई है. बताया जा रहा है कि बारिश के कारण भिलाड़ और सांजन के बीच रेल संपर्क टूट गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here