hardik-patel-lights-lantern-tejashwi-yadav-retweets

खुद को पाटीदारों का सबसे बड़ा हितैषी बताने वाले और पटेल आन्दोलन की ज्वाला भड़काने वाले हार्दिक पटेल ने गुजरात विधानसभा चुनावों में अपना पूरा जोर लगा दिया था इसके बावजूद कांग्रेस की हार हुई लेकिन हार्दिक के समर्थन से पार्टी ने गुजरात में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है. चुनावों के बाद कुछ दिनों से गायब चल रहे हार्दिक पटेल अपने ट्वीट को लेकर एक बार फिर से चर्चा में आ गये है.

दरअसल हार्दिक पटेल ने रविवार को ट्विटर पर लालटेन के साथ अपनी तस्वीर साझा कर लिखा कि गांव में बिजली चले जाने पर उन्होंने लालटेन जलाकर अंधेरा दूर किया। हार्दिक ने कहा कि उन्हें मालूम हो गया है कि लालटेन बहुत काम की चीज है। हार्दिक पटेल के इस बयान को तेजस्वी यादव ने लपक लिया और अपनी पार्टी के चुनाव चिह्न के बारे में दिए गए बयान को आगे बढ़ाया है।

हार्दिक पटेल के ट्वीट को राजद नेता और बिहार पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने रीट्वीट किया है। साथ ही तेजस्वी यादव ने लिखा है कि, ‘हार्दिक भाई, नफरतों के खिलाफ मोहब्बत की लालटेन जलाते रहना है। अन्याय के अंधेरों के खिलाफ न्याय का प्रकाश फैलाना है। डटकर लड़ना और लड़कर जीतना है। नौजवान है संघर्ष के सिवाय करना क्या है?’

तेजस्वी यादव ने लिखा है कि हार्दिक भाई, नफरतों के ख़िलाफ मोहब्बत की लालटेन जलाते रहना है। अन्याय के अंधेरों के ख़िलाफ न्याय का प्रकाश फैलाना है। डटकर लड़ना और लड़कर जीतना है। नौजवान है संघर्ष के सिवाय करना क्या है?

Read Also: चलता रहेगा शिव ‘राज ’ या कांग्रेस को मिलेगा ताज!

गौरतलब है कि बीजेपी नेता और बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कुछ दिनों पहले कहा था कि इस साल के आखिर तक बिहार से लालटेन युग खत्म हो जाएगा राजद के चुनाव चिह्न लालटेन को लेकर सुशील मोदी के बयान को सियासत से भी जोड़कर देखा गया। हालांकि सुशील मोदी कह रहे थे कि बिहार के हर गांव में साल के आखिर तक बिजली पहुंच जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here