दिल्ली पुलिस ने हवस और साज़िश की ऐसी परतें खोली हैं जिसके बारे में किसी ने कभी सोंचा तक नहीं था। पुलिस ने भाई की हत्या के आरोप में भाई और उसकी पत्नी को गिरफ्तार किया है। दोनों ने मिलकर दिल्ली के न्यू उस्मानपुर इलाके डेढ़ लाख रुपये की सुपारी देकर चचेरे भाई की हत्या करा दी थी। हैरान करने वाली बात ये रही की इस क़त्ल की पूरी साज़िश मृतक सुबोध जैन की पत्नी प्रीति जैन ने अपने चचेरे देवत राहुल जैन और उसके दोस्तों के साथ मिलकर रची थी। पुलिस ने विजय हुड्डा नाम के एक और शख्स को भी गिरफ्तार कर लिया है। तफ्तीश में सामने आया है की प्रीति और राहुल के बीच करीब चार साल से इश्क चल रहा था। ।

पुलिस ने बताया कि, सुबोध जैन अपनी पत्नी के साथ उस्मानपुर इलाके में रहता था और दोनों मिलकर प्ले स्कूल चलाते थे। बुधवार रात सुबोध घर पर मृत पाए गए। पत्नी ने लोगों को बताया की उन्हें हार्ट अटैक आया है। लेकिन उनके गले पर चोट के निशान देखकर किसी ने पुलिस को खबर दे दी। जिसके बाद पुलिस ने शव को अपनी हिरासत में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा तो रिपोर्ट से खुलासा हुआ कि पहले सुबोध को नींद की गोलियां दी गईं और फिर उनका गला घोट दिया गया। पुलिस को पहला शक सुबोध की पत्नी प्रीति पर हुआ। प्रीति की कॉल डिटेल खंगालने पर पुलिस को पता चला कि सोनीपत में गोहाना के रहने वाले सुबोध के चचेरे भाई राहुल से प्रीति की लगातार बात होती है। पुलिस ने राहुल से पूछताछ की तो वह टूट गया और उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया।

 

मृतक सुबोध जैन के चचेरे भाई और आरोपी राहुल ने बताया कि सुबोध और प्रीति के बीच विवाद चल रहा था। इसके चलते उसकी प्रीति से नजदीकियां बढ़ गईं। दोनों ने एक साथ जिंदगी बिताने के लिए सुबोध की हत्या की साजिश रची। राहुल ने हत्या के लिए गोहाना निवासी अपने दोस्त विजय को डेढ़ लाख की सुपारी दे दी। तीनों 29 अप्रैल को कश्मीरी गेट के रेस्टोरेंट में मिले। इस दौरान प्रीति ने विजय को अपने घर की चाबी दे दी। ।

प्लान के मुताबिक ही पत्नी ने दोपहर सुबोध के खाने में नींद की गोलियां मिला दीं। इससे वह गहरी नींद में सो गया। इसके बाद प्रीति बच्चों के साथ मायके चली गई। शाम को राहुल व विजय सुबोध के घर पहुंचे। राहुल घर के पास रुक गया, जबकि विजय चाबी से दरवाजा खोलकर अंदर घुसा और गहरी नींद में सो रहे सुबोध की रस्सी से गला घोटकर हत्या कर दी। घटना को लूट दिखाने के लिए विजय अलमारी से लैपटॉप और मोबाइल भी ले गया