ELECTION RESULT LIVE 2019: महाराष्ट्र में भी BJP को बढ़त, कांग्रेस प्रत्याशी अभिनेत्री उर्मिला मंतोडकर चल रहीं पीछे

मुंबई नॉर्थ सीट के शुरुआती रुझानों के अनुसार से  कांग्रेस प्रत्याशी और अभिनेत्री उर्मिला मातोंडकर बीजेपी के गोपाल शेट्टी से पीछे हैं चल रहीं हैं, वहीं पूनम महाजन भी मुंबई नॉर्थ- सेंट्रल सीट सीट से आगे चल रही हैं महाराष्ट्र में 48 में से 28 लोकसभा सीटों पर बीजेपी-शिवसेना चल रही है आगे. वहीं कांग्रेस […]

Assembly Election Results LIVE: आंध्र में YSRCP 82 तो ओडिशा में BJD को 22 पर बढ़त

Andhra Pradesh Odisha Sikkim Arunachal Pradesh assembly election rsult 2019 (विधानसभा परिणाम): लोकसभा चुनाव 2019 के साथ ही आज चार राज्यों में विधानसभा चुनावों (assembly election) के नतीजे भी आ रहे हैं. मतगणना जारी है और आज आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश में किसकी सरकार बनेगी, इसका भी पता चल जाएगा. आम चुनाव […]

200 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चक्रवाती तूफान ‘फोनी’ ओडिशा में कल देगा दस्तक, स्कूल दफ्तर में छुट्टी घोषित

भुवनेश्वर: भीषण चक्रवाती तूफान फोनी शुक्रवार को ओडिशा के पुरी में दस्तक दे सकता है. इसके मद्देनजर रक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है. इसके साथ ही शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने के आदेश दिये गए हैं. तटीय जिलों में रह रहे आठ लाख से ज्यादा लोगों को सुरक्षित इलाकों में पहुंचाया जा रहा […]

बंगाल की खाड़ी के ऊपर दबाव वाला क्षेत्र चक्रवाती तूफान ‘फनी’ में तब्दील, मछुआरों के लिए एडवाइजरी जारी

नई दिल्लीः क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने शनिवार को कहा कि दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना दबाव वाला क्षेत्र एक चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया है जिसे ‘फनी’ नाम दिया गया है. मौसम केंद्र की ओर से जारी एक संदेश में कहा गया, ‘दक्षिणपूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर बना गहरे दबाव […]

कश्मीर की बर्बादी के लिए फ़ारूक़ अब्दुल्ला ज़िम्मेदार, महबूबा पाकिस्तान को मदद पहुंचाना चाहती हैं – राम माधव

घाटी में चुनाव प्रचार के लिए पहुंचे बीजेपी नेता राम माधव ने एक बार नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष फारुख अब्दुल्ला को निशाने पर लिया। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि अब्दुल्ला जम्मू-कश्मीर के लोगों के भावनाओं के साथ खेल रहे हैं। माधव ने कहा कि कश्मीरी नेता नहीं चाहते कि उनके राज्य के लोग लोकतांत्रिक […]

राग ईमानदारी के बीच बढ़ता भ्रष्टाचार

भ्रष्टाचार के खिला़फ सरकार की प्रतिबद्धता पर जनता को संदेह, राग ईमानदारी के बीच बढ़ता भ्रष्टाचार प्रधानमंत्री बनने के बाद अगस्त 2014 में जम्मू-कश्मीर दौरे पर गए नरेंद्र मोदी ने भाषण देते हुए कहा था- ना खाऊंगा, ना खाने दूंगा. इससे पहले और बाद में भी कई अवसरों पर प्रधानमंत्री ने खुद को चौकीदार बताया. भ्रष्टाचार […]

दिल्ली से विशाखापट्टनम जा रही ट्रेन एपी AC एक्सप्रेस के 4 कोच में लगी आग

आज नई दिल्ली से विशाखापट्टनम जा रही एपी एसी कोच में आग लग गई. हालांकि अभी सभी यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया है. बता दें कि ट्रेन में ग्वालियर के नजदीक एसी के 4 कोच बी6 और बी7 में को आग लग गई. आग लगने के बाद यात्रियों में हड़कंप मच गया. ऐसे में […]

आंध्र को विशेष दर्जा न मिलने पर वाईएसआर कांग्रेस के 5 सांसदों का इस्तीफा

आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा देने का विषय दिन-ब-दिन बड़ा मुद्दा बनता जा रहा है. इस मुद्दे पर संसद में हंगामे के बाद अब आंध्र के सांसद इस्तीफा देने लगे हैं. इस मांग को लेकर वाईएसआर कांग्रेस के 5 सांसदों ने लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन को इस्तीफा सौंप दिया है. इन सांसदों ने […]

आखिर कब तक विकास की क़ीमत चुकाते रहेंगे आदिवासी

विकास की सबसे बड़ी कीमत आदिवासी समाज को चुकानी पड़ रही है. आदिवासियों को उनकी जमीन से बेदखल किया जा रहा है. जिस वनोभूमि पर उनका आवास है, वह अपने गर्भ में कोयला, लोहा, बॉक्साइट, हीरा, यूरेनियम आदि बहुमूल्य खनिज छिपाए है. वनों के विनाश के बिना इस संपदा का दोहन मुमकिन नहीं है. आदिवासियों […]

स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण) : ऐसे स्वच्छ नहीं होगा भारत

स्वच्छता का पूर्ण लक्ष्य हासिल करने के लिए सभी विद्यालयों, आंगनबाड़ी केन्द्रों में स्वच्छता सुविधाएं उपलब्ध कराने और जहां आवश्यकता हो वहां सामुदायिक शौचालय सुविधाओं की व्यवस्था कराने की योजना बनाई गई है. ठोस और तरल कचरा प्रबंधन में सुधार स्वच्छ भारत अभियान (ग्रामीण) की एक महत्वपूर्ण कड़ी है. भारत सरकार ने स्वच्छ भारत अभियान […]

अतिथि देवो भव: वाले देश में क्यों नहीं आ रहे अतिथि

  जिस देश के पर्यटन मंत्रालय का टैगलाइन ही अतिथि जिदेवो भव: हो और जहां की अर्थव्यवस्था में पर्यटन उद्योग का योगदान छह प्रतिशत तक का हो, वहां अगर अतिथि आने में कतराने लगें, तो ये देश के लिए चिंता की बात होनी चाहिए. विदेशी सैलानियों को भारत हमेशा से आकर्षित करता रहा है. लेकिन […]

Youtube पर छाई 106 साल की मस्तानम्मा, सब्स्क्राइबर 2 लाख से भी ऊपर

नई दिल्ली, (विनीत सिंह) : आप सभी यूट्यूब पर तो अक्सर ही वीडियो देखने का मज़ा लेते होंगे पर क्या आप जानते हैं कि आंध्र प्रदेश की रहने वाली 106 साल की मस्तानम्मा दुनिया की सबसे ओल्डेस्ट यूट्यूबर हैं। ये यूट्यूब पर अपनी ट्रेडिशनल डिश बनाते वीडियो अपलोड करती हैं। इन विडीओज़ को काफी संख्या […]

अब नोटबंदी पर बिफरे नायडू, कहा- जैसा सोचा था वैसा नहीं हुआ

नोटबंदी का विरोध करने वालों में अब वैसे लोग भी शामिल होने लगे हैं, जिन्होंने पहले इसका समर्थन किया था. ताजा मामला है एनडीए की सहयोगी पार्टी टीडीपी के मुखिया और आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू का. नायडू ने कहा है कि नोटबंदी पर जैसा सोचा गया था वैसा नहीं हुआ और अभी भी बहुत […]

हसदेव अरण्य : वन सुरक्षा और ग्रामसभाओं के प्रस्ताव की अनदेखी कोयला खदानों के आवंटन के ख़िलाफ़ हुए ग्रामीण

केंद्रीय कोयला मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ के हसदेव अरण्य क्षेत्र में मदनपुर साउथ कोल ब्लॉक का आवंटन आंध्रप्रदेश मिनरल डेवलपमेंट कॉरपोरेशन को किया है. इस आवंटन का हसदेव अरण्य बचाओ संघर्ष समिति और छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन पुरजोर विरोध कर रहा है. समिति का कहना है कि वे इसके खिलाफ व्यापक आंदोलन शुरू करेंगे. गौरतलब है कि […]

कहां गई दलितों की ज़मीन

भूदानी आचार्य विनोबा भावे 18 अप्रैल 1951 को आंध्रप्रदेश के पोचमपल्ली गांव की यात्रा पर थे. वहां वे 40 दलित परिवारों से मिले और उनके हिंसात्मक प्रतिरोध का कारण जानना चाहा. दलित समुदाय ने विनोबा से अपना दर्द बताया और कहा कि अगर सरकार उन्हें जीवन-बसर करने के लिए जमीन का एक टुकड़ा देती है, […]

शराबबंदी का घाटा पूरा कर सकती है गुलाबबाग मंडी

बिहार की सबसे बड़ी मंडी गुलाबबाग की गूंज विदेशों में भी है, लेकिन वर्षों से बाजार समिति भंग रहने से इसकी रौनक अब कमजोर पड़ रही है. मालूम हो कि गुलाबबाग मंडी से अरबों रुपए का गल्ला कारोबार बंगाल, बिहार, आंध्रप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान व असम समेत देश के विभिन्न राज्यों तक होता है. वर्तमान […]

सरकार सूखे को राष्ट्रीय समस्या घोषित कर निदान करे

अभी-अभी जब मैं संपादकीय लिखने बैठा हूं तो खबर आई कि पंजाब में चार किसानों ने आत्महत्या कर ली है. आत्महत्या की खबरें इतनी आम हो गई हैं कि उनकी चिंता न टेलीविजन को है, न अखबारों को है और न संसद को है. हमारी संसद में किसी भी तरह के भ्रष्टाचार के मामले पर […]

निषाद समेत यूपी की 17 अति पिछड़ी जातियां सड़क पर उतरने की तैयारी में जाट आंदोलन का फलाफल

जाट आरक्षण की मांग को लेकर हुए हिंसक आंदोलन के सामने सरकार के घुटने टेकने के बाद उत्तर प्रदेश में भी निषादों का आंदोलन फिर से सुगबुगाने लगा है. अभी यूपी में मुफीद माहौल भी है, 2017 में विधानसभा चुनाव भी होने वाला है, लिहाजा, इसे अपनी शर्तों पर राजनीतिक दलों को झुकाने का बेहतर […]

चलते-फिरते आयुध कारखाने बारूद और हथियार के कारीगर मांग रहे रोज़गार

दिल्ली के जंतर-मंतर पर पिछले एक महीने से आयुध कारखाने (ऑर्डिनेंस फैक्ट्री) के हज़ारों पूर्व शिक्षु अप्रेंटिस (संशोधन) एक्ट-1961 की धारा-22 के तहत अप्रेंटिस भर्ती नीति लागू करने की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं. केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमएसडीएस) के तहत अप्रेंटिस एक्ट-1961 की धारा 22 की उपधारा […]

हुस्न के जाल में फंसा भारतीय जवान

कहते हैं कि जब हुस्न अपना जलवा दिखाता है तो अच्छे से अच्छा आदमी उसके सामने घुटने टेक देता है क्या राजा क्या रंक. इसी तरह एक पाकिस्तानी हसीना के जाल में एक भारतीय सैनिक भी फंस गया और लंबे समय तक उस महिला को सेना के राज बताता रहा. यह वाकया हाल ही में […]

पश्‍चिम बंगाल और असम : भाजपा का बढ़ता आधार

देश के लिए अच्छे दिन लाने का वादा करने वाली भारतीय जनता पार्टी के पास ही अच्छे दिनों का टोटा हो गया है. उत्तराखंड और बिहार के बाद अब पार्टी को उत्तर प्रदेश और राजस्थान में हार का मुंह देखना पड़ा है. इन राज्यों के अलावा गुजरात, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, छत्तीसगढ़, पश्‍चिम बंगाल, त्रिपुरा, असम […]

दिल्ली का बाबू : विभाजन के झटके

तेलंगाना और आंध्र प्रदेश का बंटवारा बहृुत ही गंदे तरीके से हुआ था. नौकरशाहों के बंटवारे के समय भी यह सिलसिला जारी है. प्रत्यूष सिन्हा कमेटी ने जिस तरह कैडर का बंटवारा किया, उसे लेकर कई आईएएस और आईपीएस अधिकारी नाखुश हैं, क्योंकि उन्हें अपनी पसंद का कैडर नहीं मिल सका. जाहिर है कि कैडर […]

यह किसानों के साथ धोख़ा है

देश में खेती-किसानी से जुड़े लोगों की संख्या क़रीब सत्तर फ़ीसद है. इनमें काफ़ी बड़ा हिस्सा खेतिहर मज़दूरों का है. पिछले दिनों नरेंद्र मोदी सरकार ने अपना पहला आम बजट पेश किया. इसकी कहीं सराहना की गई, तो कहीं आलोचना. वैसे केंद्रीय बजट की तारीफ़ करने वालों की संख्या इसकी आलोचना करने वालों से अधिक […]

दिल्ली का बाबू: नए असमंजस

हाल ही में आंध्र प्रदेश से अलग होकर तेलंगाना साकार रूप ले चुका है. के. चंद्रशेखर राव ने नवगठित राज्य के पहले मुख्यमंत्री पद की शपथ ली. हालांकि, नौकरशाही में अब भी मंथन चलता रहेगा, जबकि प्रशासन स्थिर होने लगा है. शुरुआती और अस्थिर दिनों में जो आईएएस अधिकारी तेलंगाना को दिए गए हैं, वे […]

दिल्ली का बाबू : बदलाव के लिए तैयार

अब जबकि दिल्ली में नई सरकार बनने में लगभग एक महीने का समय शेष रह गया है, नौकरशाह नए बदलाव की तैयारी में लग गए हैं. यह आशा की जा सकती है कि आर्थिक गति ठीक करने के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय और दूसरे मंत्रालयों में कई नई नियुक्तियां की जाएंगी. मामले पर निगाह रखने वालों […]

दिल्ली का बाबू : घर की उम्मीद

मुंबई में आवास एक स्थायी समस्या है, यहां तक कि सरकारी अधिकारियों के लिए भी. राज्य सरकार के संशोधित नियमों के तहत वैसे बाबू, जिनका महाराष्ट्र में सरकारी कोटे के तहत अपना घर है, वे दूसरा घर नहीं ले सकते हैं. इस नए नियम के तहत मुंबई की मैत्री को-ऑपरेटिव हाउसिंग सोसायटी के लगभग 84 […]

अब जनता को फैसला करना है

बात भारतीय जनता पार्टी की आज की स्थिति की करनी चाहिए, नरेंद्र मोदी की नहीं. आज हिंदुस्तान में 35 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश हैं. इनमें से कुछ राज्यों के आज लोकसभा में कितने सांसद हैं, इस बारे में बात करते हैं. आंध्र प्रदेश से 42, केरल से 20, ओडिशा से 21, तमिलनाडु से 39, […]

दिल्ली का बाबू : नियुक्तियों में देरी

वित्तीय नियामकों में शीर्ष पदों पर नियुक्तियों को लेकर वित्त मंत्रालय द्वारा किए जा रहे विलंब का मतलब शायद यही है कि इस मामले पर निर्णय अब चुनाव के बाद नई सरकार ही करेगी. भारतीय रिजर्व बैंक, पेंशन कोष नियामक एवं विकास प्राधिकरण (पीआरएफडीए) और बीमा विनियामक एवं विकास प्राधिकरण (आईआरडीए) में शीर्ष पदों पर […]

सुप्रीम कोर्ट ने दिखाई आशा

चलिए, आशा की किरण तो दिखाई दी. भारत में जैसा राजनैतिक माहौल है और जिस तरह राजनैतिक दल अपनी सोच बदल रहे हैं, उससे नहीं लगता कि कुछ बुनियादी बदलाव आसानी से हो पाएंगे. वाई एस आर ने आंध्र प्रदेश में मुसलमानों को चार प्रतिशत आरक्षण दिया था, जिसका वायदा उन्होंने अपने घोषणापत्र में किया था.

भारतीय जनता अनेकता में एकता की मिसाल

हिंदू संस्कृति जिस धरती पर समृद्ध हुई, उसकी आबादी के बारे में हम जान चुके हैं कि वह मूलतः चार जातियों का मिश्रण रही है. इन्हीं जातियों के बीच के वैवाहिक संबंधों ने हमारी संस्कृति को बहुरंगा स्वरूप प्रदान किया. विविधता में एकता हमारी सांस्कृतिक पहचान रही है. न स़िर्फ जातीय, बल्कि भाषाई आधार पर भी भारत की विविधता ग़ौर के क़ाबिल है. अलग-अलग क्षेत्रों में अलग भाषाएं बोली जाती हैं.