मुंबई: वज्रेश्वरी देवी के मंदिर में बीती रात के तीन बजे पांच से छह लोगों ने डकैती डाली. डकैतों ने मंदिर में घुसकर वहां तैनात एकमात्र सुरक्षाकर्मी को रस्सी से बांध दिया. इसके बाद उन लोगों ने मंदिर में रखी दानपेटी को तोड़कर लुटेरे चढ़ावे के 7 लाख रुपये चोरी कर फरार हो गए हैं. डकैती की इस घटना के बाद वज्रेश्वरी इलाके में खलबली मच गई है. डकैतों की पूरी वारदात मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है.
टूटा हुआ ताला मंदिर के फर्स पर बिखरा हुआ चिल्लर और पुजारी के चहरे पर दहशत इस बात की गवाही दे रही है कि महारष्ट्र के इस ऐतिहासिक मंदिर में बीती रात डकैतों की एक टोली ने मंदिर का खजाना लूट लिया है. पालघर जिले के विरार पूर्व भिवंडी अम्बाडी रोड स्थित व्रजेश्वरी इलाके में मंदाकिनी पर्वत श्रृंखला की तलहटी में बसा व्रजेश्वरी योगनी देवी का मंदिर कई पौराणिक कथाओं और इतिहास से जुड़ा है.
इस मंदिर में एकमात्र चौकीदार होना ही लुटेरों की इस हरकत को अंजाम देने का सबसे बड़ा कारण बना इन लुटेरों ने मंदिर में डाका डालने के लिए पहले से ही रणनीति तैयार की थी फुलप्रूफ प्लानिंग के साथ आये लुटेरे शायद ये भूल गए थे कि उनकी ये हरकत सीसीटीवी कैमरे में कैद हो रही है और पुलिस जल्द ही उन्हें पकड़ लेगी पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मामले में आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है.
जब मंदिर में हुई इस डकैती का गांव वालों को पता चला तो उन लोगों ने इस डकैती का विरोध करते हुए पूरे गांव को बंद कर दिया. लोगों में डकैती की घटना को लेकर काफी नाराजगी है. उनका कहना है कि ये महाराष्ट्र का ऐतिहासिक मंदिर है जो प्राचीन काल से यहां मौजूद है और इस मंदिर में ऐसी घटना दुर्भाग्यपूर्ण है.