आम आदमी पार्टी के तीनों उम्मीदवार संजय सिंह, सुशील गुप्ता और एनडी गुप्ता राज्यसभा के लिए चुन लिए गए हैं.  इसी के साथ संसद में अब पार्टी के सांसदों की संख्या बढ़कर 7 हो गई है. राज्यसभा पहुंचे पार्टी के सांसदों ने स्पष्ट कहा है कि वे केंद्र के सौतेले व्यवहार को राज्यसभा में भी जोर-शोर से उठाएंगे यानी यह लड़ाई अब राज्यसभा में भी लड़ी जाएगी.

राज्यसभा में सपा के सांसद नरेश अग्रवाल ने भी हाल में यह मुद्दा उठाया था. उन्होंने कहा था कि दिल्ली सरकार को ज्यादा अधिकार दिए जाने की जरूरत है. एलजी अनिल बैजल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल के साथ चपरासी जैसा व्यवहार करते हैं. इस मामले में सीपीआई और तृणमूल ने भी आप का समर्थन किया था.

केजरीवाल को दिल्ली मेट्रो की मजेंटा लाइन के उद्घाटन समारोह में नहीं बुलाए जाने से एक बार फिर केंद्र और दिल्ली सरकार का विवाद सामने आया था. अब आप के राज्यसभा सदस्य इस तरह के मुद्दों को राज्यसभा में भी बहस का मुद्दा बना सकते हैं, जिससे केंद्र सरकार को घेरा जा सकता है.

सांसद संजय सिंह ने कहा कि केंद्र, दिल्ली के अधिकारों को कुचलने की कोशिश कर रहा है, लेकिन अब हम चुप्प नहीं रहेंेगे. दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग भी प्रमुखता से राज्यसभा में उठाई जाएगी. केंद्र और दिल्ली सरकार के बीच अधिकारों की यह लड़ाई फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here