गुजरात चुनाव के दूसरे चरण के प्रचार के सिलसिले में पाटन में एक सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी पूरी तरह से मोदी पर हमलावर दिखे. मणिशंकर अय्यर के बयान को मुद्दा बनाने को लेकर भी राहुल ने मोदी को आड़े हाथो लिया. उन्होंने कहा कि मोदी जी को अय्यर की बात याद है, लेकिन भ्रष्टाचार को भूल गए. ट्वीट वाले सवाल ने लिखा, गुजरात में 22 सालों से भाजपा की सरकार. मैं सिर्फ इतना पूछूंगा, क्या कारण है इस बार प्रधानमंत्री जी के भाषणों में विकास गुम है? उन्होंने यह भी कहा कि मैंने गुजरात के रिपोर्ट कार्ड से 10 सवाल पूछे, उनका भी जवाब नहीं. भाजपा द्वारा गुजरात चुनाव में घोषणा पत्र जारी नहीं करने को लेकर भी राहुल ने पीएम मोदी को आड़े हाथों लिया. पहले फेज का प्रचार खत्म होने तक घोषणा पत्र नहीं, तो क्या अब भाषण ही शासन है?

दरअसल, राहुल ट्विटर पर सीरीज चलाकर हर दिन एक सवाल पूछ रहे हैं. 22 सालों का हिसाब, गुजरात मांगे जवाब, नाम की सीरीज के जरिए वे पीएम मोदी से एक-एक कर अब तक 10 सवाल पूछ चुके हैं. बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण में आज वोट डाले जा रहे हैं. दूसरे चरण का चुनाव 14 दिसंबर को है और नतीजों का एलान 18 दिसंबर को होगा.

गौरतलब है कि इन्हीं सवालों के क्रम में अपने सातवें सवाल में राहुल गांधी ने कुछ मिसकैलकुलेशन कर दिया था. गुजरात में बीते तीन साल में जरूरी चीजों के दाम में हुई बढ़ोतरी को लेकर पूछे गए सवाल में में राहुल गांधी ने एक चार्ट पोस्ट किया था, जिसमें समानों की कीमतों में हुई बढ़ोत्तरी का प्रतिशत दिखाया गया था. चार्ट में महंगाई को 100 प्रतिशत ज्यादा लिखा गया था. इसे लेकर भाजपा ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लिया. मीडिया में भी इसे लेकर खबर आ गई, जिसके बाद राहुल ने वो चार्ट डिलीट कर एक नया चार्ट पोस्ट किया, जिसमें कीमतों में बढ़ोत्तरी प्रतिशत में नहीं बल्कि रुपयों में थी. इसके बाद राहुल गांधी ने एक और टवीट किया था, जिसमें उन्होंने कहा था कि मैं मोदी नहीं हूं, मैं आम इंसान हूं और आम इंसान से गलती हो जाती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here