देश की संसद में तीखी बहस होना, विरोधी के खिलाफ तल्ख टिप्पणी करना, नोक-झोंक हो जाना, तनातनी पैदा हो जाना, विरोधी पार्टी के खिलाफ शब्दों का युद्ध चलना जैसी घटनाएं खूब होती हैं. इस बीच विरोधियों से मिलने-मुस्कुराने की तस्वीरें भी आती हैं, लेकिन ऐसा कम होता है जब विपक्ष का सबसे बड़ा नेता प्रधानमंत्री के पास जाए और उनसे हाथ मिलाए, गले मिले और अपने भाषण में ये एलान भी करे कि उनके दिल में थोड़ा भी गुस्सा नहीं है. नफरत नहीं है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अविश्वास प्रस्ताव के दौरान संसद में एक लंबा भाषण दिया और अंत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गले लगा लिया. राहुल गांधी ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव पर अपना भाषण अंग्रेज़ी में शुरू किया. इस दौरान सदन में हिंदी में बोलने की मांग उठी तो उन्होंने कहा, “हिंदी में भी बोलूंगा, घबराइये मत.”

राहुल गांधी देश में महिलाओं के ऊपर अत्याचार, गैंगरेप और मॉब लिंचिंग के मुद्दे पर पीएम मोदी और उनकी सरकार को घेर रहे थे और वह पीएम मोदी पर आरोप लगा रहे थे कि वह इन मुद्दों पर कभी कुछ नहीं बोलते. इसके बाद उन्होंने पीएम मोदी, बीजेपी और आरएसएस का आभार व्यक्त किया और कहा कि इन लोगों ने उन्हें कांग्रेसी होने का मतलब समझाया.

उन्होंने कहा कि पूरा विपक्ष मिलकर प्रधानमंत्री को चुनाव में हराने जा रहा है. आप सोचेंगे कि मेरे दिल में प्रधानमंत्री के खिलाफ गुस्सा है, क्रोध है, मगर मैं दिल से कहता हूं कि मैं प्रधानमंत्री, बीजेपी और आरएसएस का आभारी हूं, जिन्होंने मुझे कांग्रेस होने का मतलब समझाया, इन्होंने मुझे हिंदुस्तानी होने का मतलब समझाया. हिंदुस्तानी होने का मतलब है कि चाहे कोई आलोचना करे, बुरा कहे, कुछ भी कहे, कुछ नहीं कहना है. अपना काम करते जाना है.

इसके बाद पीएम मोदी कुछ समझ पाते उससे पहले ही राहुल गांधी उनसे गले मिलकर अपनी सीट पर आने लगे तो पीएम ने उन्हें दोबारा अपनी ओर बुलाया. उसके बाद पीएम ने भी पीठ थपथपाकर राहुल से कुछ कहा.

जैसे ही राहुल गांधी ने पीएम मोदी को जादू की झप्पी दी और गले लगाया, वैसे ही पूरा माहौल तालियों की आवाज से गूंजने लगा. सदन में मौजूद सभी सांसद ठहाके लगाने लगे और तालियां बजाने लगे. बता दें कि इससे पहले राहुल गांधी ने मोदी सरकार के ऊपर कई सारे आरोप लगाए और कहा कि वह अगले चुनाव में बीजेपी को हरा देंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here