वाराणसी: अपने नामांकन के लिए प्रधानमंत्री PM नरेंद्र मोदी आज बनारस में है. गुरुवार को भव्य रोड शो के बाद शुक्रवार को उन्होंने वाराणसी संसदीय क्षेत्र से अपना नामांकन पर्चा भरा. लेकिन ठीक चुनाव के पहले कश्मीर मुद्दे पर चुप्पी साधे प्रधानमंत्री ने अपना बड़ा बयान दिया है. पीएम मोदी ने आज तक को दिए साक्षात्कार में कहा जम्मू कश्मीर के नेता दोगली भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं.

PM मोदी नामांकन

वह जम्मू-कश्मीर में कुछ और बोलते हैं और दिल्ली आकर कुछ और बोलते हैं.अपने साक्षात्कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कश्मीरी नेताओं को नसीहत दी है कि ये जो दिल्ली में बोलते हैं वही कश्मीर में बोले या जो कश्मीर में बोलते हैं वही बात दिल्ली में भी बोले. दोनों जगह अलग-अलग बात करके जम्मू कश्मीर के आवाज में नफरत ना फैलाएं.

आपको बता दें कि 2014 के लोकसभा चुनाव में जम्मू कश्मीर का मुद्दा अपने चरम पर था लेकिन मोदी सरकार के 5 साल पूरे होने के बावजूद कश्मीर मुद्दे पर कोई भी हल नहीं निकला और ना ही इस विषय पर गंभीर चर्चा की गई. लेकिन 2019 चुनाव के वक्त अचानक से कश्मीर का मुद्दा फिर चर्चा का विषय बन गया है.
अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी से नामांकन पर्चा भरने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील की. आपको बता दें कि इस बार कांग्रेस की तरफ से बाहुबली नेता अजय राय को मोदी के खिलाफ मैदान में उतारा गया है. अजय राय ने पिछली बार भी मोदी के खिलाफ कांग्रेस की तरफ से मोर्चा संभाला था. लेकिन उस समय वह तीसरे स्थान पर रहे थे.
वाराणसी से इस बार कौन चुनाव जीतता है? यह 23 मई को साफ हो जाएगा. लेकिन जिस तरह से प्रियंका गांधी का नाम यहां नरेंद्र मोदी के खिलाफ चर्चा का विषय बना हुआ था. उस लिहाज से कांग्रेस की तरफ से अजय राय का नाम घोषित करना यह दर्शाता है की प्रियंका गांधी फिलहाल उत्तर प्रदेश में कांग्रेस संगठन को मजबूत करने पर अपना ध्यान केंद्रित कर रही हैं.