हर मोर्चे पर भारत से मात खाने के बाद भी पाकिस्तान सुधरने का नाम नहीं ले रहा. जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. वह किसी भी तरह भारत में हिंसक घटनाएं करवाना चाहता है, लेकिन उसके मंसूबे कामयाब नहीं हो रहे हैं. इसलिए अब वह चीन के साथ मिलकर पाक अधिकृत कश्मीर (POK) में गहरी साजिश रच रहा है.

मिलिट्री इंटेलिजेंस की रिपोर्ट है कि लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर पाकिस्तान ने न केवल अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है, बल्कि पीओके के अलग-अलग इलाकों से आतंकियों को सीजफायर की आड़ में भारत में घुसपैठ कराने की फिराक में है. इसके लिए POK के कोटली में LOC के पास पाकिस्तानी सेना के 3 ब्रिगेड तैनात हैं.

पाकिस्तान की सेना ने एलओसी पर 10 निगरानी केंद्र बनाये हैं. सुंदरबनी, नौशेरा और राजौरी सेक्टर में भी पाकिस्तानी फौज मौजूद है, ऐसा खुफिया रिपोर्ट्स में कहा गया है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल बाजवा ने बॉर्डर एक्शन टीम (BAT) के अलावा 100 से ज्यादा पाकिस्तानी स्पेशल सर्विस ग्रुप और कमांडो को भी इन क्षेत्रों में तैनात कर रखा है.

खबर है कि पाकिस्तान ने पाक अधिकृत कश्मीर में 300 आतंकियों को अलग-अलग जगहों पर एकत्र कर रखा है. इनमें 15 आतंकवादी अफगानिस्तान के आतंकी संगठनों के हैं. ज्यादातर आतंकी पीओके की लीपा घाटी में हैं. पाकिस्तानी फौज सीजफायर तोड़कर आतंकियों की घुसपैठ कराने की फिराक में है. यह भी खबर है कि जनरल बाजवा ने कश्मीर को लेकर कोर कमांडर्स के साथ मीटिंग की है.

मिलिट्री इंटेलिजेंस को यहां तक खबर मिली है कि पूरी साजिश में चीन उसकी मदद कर रहा है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तान की सेना पीओके में भारत के खिलाफ छोटे युद्ध के लिए साज-ओ-सामान जुटा रही है. नये बंकर, नया मिलिट्री बेस तैयार कर रही है. इधर, भारतीय सेना ने चीन की मदद से पाकिस्तान के छद्मयुद्ध के प्लान को नाकाम करने के लिए पूरी तरह तैयार है. आर्मी चीफ ने तो यहां तक कह रखा है कि पाकिस्तान की किसी भी हरकत का जवाब देने के लिए भारतीय सेना सदैव तैयार है