मुंबई: एग्जिट पोल और सट्टा बाजार दोनों ही तुक्के पर चलते हैं चुनाव को लेकर दोनों की भविष्यवाणी कई बार सही साबित होती है तो कई बार दोनों के आंकलन गलत साबित होते है. इस बार भी नतीजों की घोषणा से पहले एक्ज़िट पोल जारी हुए जिनमे मोदी सरकार सत्ता में लौटती दिख रही है.

क्या है सट्टा बाजार का Exit Poll
‘सट्टाबाजार’ ने भी अगले पांच वर्षों के लिए केंद्र में भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए के दूसरे कार्यकाल की भविष्यवाणी की है। लेकिन सटोरियों ने नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) को पिछले कार्यकाल की तुलना में कम सीटें मिलने की भविष्यवाणी की है। जबकि रविवार को आए विभिन्न एग्जिट पोल के पूर्वानुमानों NDA को 300 के पार सीटें मिलती दिख रही हैं.

देशभर में औसतन सट्टा बाज़ार और सटोरियों के अनुसार हाल ही में संपन्न हुए सात चरण के लोकसभा चुनावों में भाजपा को 238-245 सीटें मिलने का अनुमान है. जबकि 543 सदस्‍यों वाली लोकसभा में जीत के लिए 272 सीटों की जरूरत है. कम टैली के कारण, सट्टा बाज़ारों ने एनडीए को स्पष्ट बहुमत नहीं दिया है. लेकिन पीएम नरेंद्र मोदी के लिए एक दूसरे कार्यकाल की भविष्यवाणी की है. वहीं दूसरी तरफ सट्टा बाज़ारों के अनुमान के अनुसार, कांग्रेस के 80 से 100 सीटें जीतने की संभावना है.

2019 के चुनावों में ‘मोदी लहर’ का प्रभाव कम होने का अनुमान पहले से था
सट्टा बाज़ार ने 2019 के चुनावों में ‘मोदी लहर’ का प्रभाव कम होने का अनुमान लगाया था. हालांकि, रविवार को हुए अंतिम चरण के चुनावों के नतीजों को देखें तो एग्जिट पोल और सट्टाबाजारों ने भाजपा की जीत की भविष्यवाणी की है. सट्टा बाजार में सट्टेबाज अन्‍य दलों की जीत और बीजेपी के बहुमत नहीं मिलने पर भी पैसा लगा रहे हैं. मुंबई के सट्टेबाजों के मुताबिक कांग्रेस के नेतृत्‍व में महागठबंधन 150 सीटों के साथ एनडीए से काफी पीछे रह सकता है. बाकी बची सीटें अन्‍य दलों को मिलेंगी.