राम मंदिर के निर्माण की मांग को लेकर आमरण अनशन कर रहे महंत परमहंस दास की तबियत बिगड़ने पर रविवार देर रात उन्हें पीजीआई में भर्ती कराया गया. महंत की तबियत ज्यादा खराब होने की वजह से उन्हें पोस्ट ऑफ आईसीयू में रखा गया है. सूत्रों के अनुसार सीएम योगी आदित्यनाथ उन्हें देखने के लिए आ सकते हैं. पीजीआई परिसर में भारी संख्या में प्रशासन और पुलिस के अफसर मौजूद है. अनशन पर बैठे परमहंस की तबियत बिगड़ने पर रविवार को पुलिस ने उन्हें उठा ले गई थी. पहले फैज़ाबाद में उन्हें भर्ती कराया गया फिर रात में हालात बिगड़ने पर प्रशासन ने उन्हें आनन फानन में पीजीआई लाकर भर्ती कराया.

बता दें कि पीजीआई निदेशक प्रो राकेश कपूर की देखरेख में उनका इलाज चल रहा है. निदेशक प्रोफेसर राकेश कपूर ने बताया कि परमहंस जी कई दिन से उपवास पर रहे जिसके कारण कीटोन बढ़ गया है और शरीर में पानी की कमी हो गई है. ग्लूकोज का स्तर कम हो गया है जिसके कारण रात में 2:00 बजे भर्ती किया गया बाकी जांच कराई जा रही हैं. अभी उनकी स्थिति गंभीर बनी हुई है. शरीर में पानी की कमी को पूरा करने के लिए ड्रिप सहित कई उपाय किए जा रहे हैं. महंत जी को क्रिटिकल केयर आईसीयू में रखा गया है. संक्रमण की आशंका को देखते हुए उनसे मिलने पर भी रोक लगा दी गई है.

बता दें कि परमहंसदास सात दिन से अनशन कर रहे हैं और इस जिद पर अड़े हैं कि जब तक पीएम अयोध्या आकर इसकी घोषणा नहीं करते वह अनशन जारी रखेंगे. आज उनके अनशन का आठवां दिन है.

सतीश महाना से वार्ता के बाद रुख कुछ नरम 

रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के विशेष दूत बनकर अयोध्या पहुंचे जिले के प्रभारी मंत्री सतीश महाना से वार्ता के बाद परमहंसदास का रुख कुछ नरम पड़ा. अब अनशनरत संत सोमवार को महाना के साथ लखनऊ आएंगे जहां मुख्यमंत्री वीडियो कालिंग के जरिये उनकी प्रधानमंत्री से बात कराएंगे. संभावना जताई गई है कि इसके बाद वह अपना अनशन तोड़ देंगे.

प्रभारी मंत्री का अयोध्या में डेरा

महाना रविवार को जिले में ही रात्रि विश्राम करेंगे ताकि सोमवार को वे समय पर परमहंसदास को लेकर लखनऊ आ सकें. परमहंसदास का अनशन अभी समाप्त नहीं हुआ है लेकिन, वार्ता के बाद आंदोलन के समाप्त होने की पृष्ठभूमि तैयार हो चुकी है. अनशनरत महंत से भेंट करने सांसद लल्लू सिंह समेत अनेक लोग पहुंच रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here