नई दिल्ली, (राज लक्ष्मी मल्ल) : केंद्रीय वन एवं पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे का दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया. अनिल माधव दवे 60 साल के थे. वह काफी समय से बीमार चल रहे थे जिस वजह से एम्स में भर्ती थे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर उनके निधन पर गहरा शोक जताया है.

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने ट्वीट में लिखा, मैं कल शाम को अनिल दवे जी के साथ था, उनके साथ नीतिगत मुद्दों पर चर्चा कर रहा था. उनका निधन मेरा निजी नुकसान है. दोस्त और एक आदर्श साथी के तौर पर अनिल माधव दवे जी की मौत से दुखी हूं. भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करे. लोक हित के काम के लिए दवे जी को याद रखा जाएगा.

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी ट्विटर अकाउंट पर ट्वीट के जरिए दुःख व्यक्त किया हैं, उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा – आदरणीय श्री अनिल दवे के रूप में देश ने एक सच्चा देशभक्त और माँ नर्मदा का सपूत खो दिया है। इस क्षति की भरपाई कभी न हो सकेगी.


जानकारी के मुताबिक, अनिल दवे पिछले दो सत्र से सेशन में तबियत ख़राब होने की वजह से नहीं आ रहे थे. उनकी जगह प्रकाश जावड़ेकर सदन में उनका कामकाज संभाल रहे थे क्योंकि मंत्रालय आकर कामकाज संभालने की स्थिति में नहीं थे. 5 जुलाई 2016 में उन्हें मंत्री बनाये गए थे. मध्यप्रदेश भाजपा के जाना-माना चेहरा थे.

जल संसाधन समिति और सूचना और प्रसारण मंत्रालय के सलाहकार समिति में भी थे. ग्लोबल वार्मिंग पर संसदीय समिति के भी वह सदस्य रह चुके हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here