झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास की ज़बरदस्त किरकिरी हुई। पार्टी अध्यक्ष अमित शाह पहुंचे थे झारखंड के जमशेदपुर और धनबाद में एक बड़ी चुनावी रैली को संबोधित करने। लेकिन वहां जो कुछ भी हुआ इसकी उम्मीद नहीं थी। जमशेदपुर की रैली में बमुश्किल कुछ ही लोग, जमशेदपुर (टाटा) के एग्रीको मैदान में आयोजित उनकी जनसभा में कुर्सियां खाली पड़ी रहीं। मुख्यमंत्री लोगों को बुलाते रहे और मैदान खाली रही और तो और जो लोग बचे थे वो भी धीरे धीरे निकल गए।
अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की इस सभा की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिस वक्त अमित शाह भाषण दे रहे थे उस वक्त सभा का एक कोना लगभग खाली था। वीडियो में साफ दिख रहा है कि लाल रंग की कुर्सियां खाली पड़ी हैं और आगे बैठे पार्टी कार्यकर्ता अपने सिर पर भगवा टोपी पहने हुए हैं।
देखें, VIDEO:
भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने रैली में दावा किया कि आम चुनावों की लड़ाई ‘‘कांग्रेस के थ्री जी और भाजपा के थ्री जी’’ के बीच में है। एक तरफ कांग्रेस का थ्री जी गांधी परिवार है, जबकि दूसरी ओर भाजपा का थ्री जी गांव, गौमाता और गंगा है। चुनावी रैलियों में वह आगे बोले कि गरीबों की स्थिति सुधारने के लिए जो काम कांग्रेस सरकारें 55 वर्षों में नहीं कर सकीं वह केन्द्र की मोदी सरकार ने सिर्फ पांच वर्षों में कर दिखाया।
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह इस मैदान से भी गाँधी परिवार पर जमकर निशाना साधा उन्होंने कहा कि, कांग्रेस का ‘‘थ्री जी सोनिया (गांधी), राहुल (गांधी) और प्रियंका (गांधी) है’’ और भाजपा का ‘‘थ्री जी गांव, गौमाता और गंगा है।’’ शाह ने आगे लोगों से सही थ्री जी चुनने को कहा। उन्होंने घुसपैठियों को ‘‘दीमक’’ की संज्ञा देते हुये कहा कि कश्मीर से कन्याकुमारी तक और कोलकाता से कच्छ तक वे घुसपैठियों की पहचान करेंगे और उन्हें देश से निकाल कर बाहर करेंगे।