नई दिल्ली: कांग्रेस वर्किंग कमिटी की बैठक के बाद लोकसभा चुनाव में अपनी हार की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एकबार फिर अपने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की है. हालांकि सोनिया गांधी और तमाम बड़े नेताओं ने उन्हें इस्तीफा न देने के लिए मनाने की कोशिश की लेकिन बावजूद इसके राहुल गांधी अपनी जिद पर अड़े रहे और उन्होंने कह दिया है की वो अब से बतौर अध्यक्ष काम नहीं करेंगे.

जैसा कि पहले से ही यह तय था लोकसभा चुनाव की हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे की पेशकश दी थी और उसी कड़ी में आगे बढ़ते हुए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अब बतौर अध्यक्ष काम करने से मन कर दिया है. आपको बता दें कि चुनावी हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने नतीजों के दिन ही ऐलान किया था कि वह इस्तीफा देने का मन बना रहे हैं.

अब जैसा कि पहले से कयास लगाया जा रहा है कि राहुल गांधी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए अशोक गहलोत और कैप्टन अमरिंदर सिंह का नाम तेजी से चर्चा में बना हुआ है. अगर अशोक गहलोत कांग्रेस के अध्यक्ष चुने जाते हैं तो ऐसे में राजस्थान के मुख्यमंत्री के लिए सचिन पायलट का नाम सामने आ रहा है और वहीं दूसरी तरफ अगर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह कांग्रेस अध्यक्ष चुने जाते हैं. तो ऐसे में पंजाब के मुख्यमंत्री उनकी पत्नी को बनाया जाएगा.

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में लोकसभा चुनाव में हार के लिए मंथन किया गया और आगे की रणनीति तय की गई और आपको बता दें कि विभिन्न राज्यों में आगामी चुनाव के लिए भी रणनीति तय की जा रही है.