शुक्रवार को देश की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजने के खिलाफ दिल्ली समेत देश के अन्य राज्यों में सीबीआई मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन करेगी.

गौरतलब है कि बुधवार को आधी रात में सीवीसी कि सिफारिश के बाद सरकार ने सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा और विशेष निदेशक राकेश अस्थाना को छुट्टी पर भेज दिया, जिसे लेकर कांग्रेस लगातार सरकार पर जुबानी हमला कर रही है.

कांग्रेस पार्टी की ओर से कहा गया है की वो पूरे देश में स्थित सीबीआई मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन करेगी. बताया जा रहा है कि दिल्ली स्थित सीबीआई मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हो सकते हैं. वहीं इस विरोध प्रदर्शन में कांग्रेस को टीएमसी का भी साथ मिला है.

बता दें कि कांग्रेस के तमाम वरिष्ठ नेता लगातार सरकार के इस फैसले का विरोध कर रहे हैं. वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी कल प्रेस कांफ्रेंस करके सरकार के फैसले की आलोचना करते हुए कहा कि सरकार का फैसला असंवैधानिक और न्याय विरुद्ध है.

वहीं इस मामले को लेकर आलोक वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है, जिसको लेकर शुक्रवार को सुनवाई होगी. मालूम हो कि सीबीआई के निदेशक का कार्यकाल 2 साल का होता है वहीं आलोक वर्मा के कार्यकाल में केवल अब मात्र चार महीने शेष बच गए है.

वहीं जानकारों का कहना है कि सीबीआई के निदेशक को विशेष पैनल के गठन के द्वारा ही हटाया जा सकता है, हालांकि जिस तरीके से सरकार ने आलोक वर्मा को हटाया है वो बिल्कुल असंवैधानिक है.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी लगातार पीएम मोदी के इस फैसले को राफेल डील से जोड़कर देख रहे हैं. उनका कहना है कि सरकार राफेल डील की जांच से डर रही है इसलिए उन्होंने सीबीआई निदेशक को हटा दिया है. साथ ही उन्होंने कहा कि जो कोई राफेल के इर्द गिर्द आएगा सरकार उसे हटा देगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here