पश्चिमी चंपारण, जेएनएन। बिहार में फिर परीक्षा का मजाक उड़ा। मामला पश्चिमी चंपारण का है। बेतिया के आरएलएसवाइ कॉलेज में शुक्रवार को हुई स्नातक पार्ट 3 के जीएस की परीक्षा ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। परीक्षा का दृश्य सामूहिक भोज की तरह दिख रहा था। जिसे जहां मन हुआ बैठ गया और परीक्षा दी। भवन और सीट के अभाव में जीएस की परीक्षा परीक्षार्थी बरामदे, जमीन और सीढ़ी के नीचे बैठकर दी।

प्रयोगशाला में खड़े होकर टेबल पर दी परीक्षा
यह स्थिति एमजेके कॉलेज में भी देखने को मिली। यहां कई परीक्षार्थी ने प्रयोगशाला में खड़े होकर टेबल पर परीक्षा दी। आरएलएसवाइ कॉलेज केंद्राधीक्षक डॉ. राजेश्वर प्रसाद यादव ने बताया कि अधिक परीक्षार्थियों के कारण केंद्र पर अव्यवस्था की स्थिति हुई। यहां परीक्षा भवन का अभाव है। इसके लिए बीआरए विश्वविद्यालय से लेकर सभी पदाधिकारियों को पत्र लिखा गया है। लेकिन, परीक्षा भवन नहीं बना है।

एमजेके कॉलेज में रही अफरातफरी
शहर के एमजेके कॉलेज में स्नातक पार्ट थ्री की परीक्षा को लेकर पूर्व से तैयारी नहीं की गई थी। इससे वहां अफरातफरी रही। परीक्षार्थी जगह खोजने के लिए इधर-उधर भटक रहे। इसी दौरान एमजेके कॉलेज की मुख्य सड़क पर जाम की स्थिति बन गई। इससे कई परीक्षार्थियों को परीक्षा भवन में जाने में देर हो गई।