देश की राजधानी दिल्ली में कानून व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गया है। शहर में रोज़ औसतन 5 हत्या के मामले दर्ज किये जा रहे हैं, लूटपाट तो आम बात है। अपराधी कितने बेख़ौफ़ हैं इसका अंदाज़ा इसी से लगाया जा सकता है की अब तो पुलिस वाले भी महफूज़ नहीं रहे हैं। अब उनका ही परिवार सड़क पर सुरक्षा की भीख माँगा रहा है। दिल्ली के विवेक विहार इलाके में दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर राजकुमार के परिवार का आरोप है की उनकी हत्या शराब माफियाओं ने पीटपीटकर कर दी है। सब इंस्पेक्टर राजकुमार के परिवार वालों का आरोप है कि हत्या इलाके के ही सबसे बड़े शराब माफिया के लोगों ने की है। वो भी इसलिए क्यूंकि सब इंस्पेक्टर राजकुमार अवैध शराब विक्रेताओं के खिलाफ कार्यवाही कर रहे थे।

परिवार का आरोप है कि, शराब माफिया ने ही सब इंस्पेक्टर को पीट-पीट कर मारा है, क्योंकि राजकुमार शराब बेचने का विरोध करते थे। शराब के अड्डे के पास एक पुलिस बूथ भी बना दिया गया था, जिससे शराब बेचने वाला नाराज़ चल रहा था।

सब इंस्पेक्टर राजकुमार के घरवालों के मुताबिक वारदात से पहले राजकुमार अवैध शराब का वीडियो बना रहे थे, जिसके बाद झगड़ा हुआ और फिर उनकी पीट-पीट कर हत्या कर दी गई। पुलिस ने राजकुमार के घरवालों की शिकायत पर हत्या का केस दर्ज कर आरोपी भूरी को गिरफ्तार कर लिया है, हालांकि राजकुमार के शव पर किसी तरह के चोट के निशान नहीं मिले हैं।

मौत की वजह पोस्टमोर्टम रिपोर्ट में हीट अटैक बताये जाने से अब ये मामला और भी उलझ गया है। परिवार का आरोप है की डिपार्टमेंट के कुछ लोग आरोपी भूरी को बचने के लिए पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से भी छेड़छाड़ कर रहे हैं। राजकुमार और बदमाश भूरी आसपास ही रहते हैं और उस वक़्त राजकुमार ड्यूटी पर नहीं थे।