विवादित बयानों के चलते सुर्ख़ियों में रहनेवाले केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का अजीबो गरीब बयान सामने आया है. दरअसल केन्द्रीय मंत्री का कहना है कि आने वाले दिनों में हम ऐसी तकनीक का प्रयोग करेंगे कि देश में गाय के गर्भधान से जो बच्चे होंगे वो सिर्फ बछिया होंगी. साथ ही उन्‍होंने कहा कि उसके बाद मॉब लिंचिंग का सवाल नहीं होगा.

केंद्रीय पशुपालन मंत्री और भारतीय जनता पार्टी के बेगूसराय से सांसद गिरिराज सिंह ने कहा कि मेरे दो विजन हैं. विदर्भ में गाय छोटी-छोटी होती हैं, जो एक लीटर, दो लीटर दूध देती हैं. आने वाले दिनों में अब देश के अंदर जो गर्भाधान होगा, उससे जो बच्चे होंगे वो बछिया ही होंगी. अब मॉब लिंचिंग का सवाल नहीं होगा. जो आवारा पशुओं के रूप में हमारा जानवर उपयोगी होगा. 30 लाख डोज साल 2019-20 में इस्तेमाल की जाएंगी. साल 2025 तक 10 करोड़ डोज यूज होंगी और 10 करोड़ बछिया होंगी. अगर हम एक करोड़ डोज देते हैं तो सवा लाख से डेढ लाख करोड़ का फायदा होगा. हम गाय की फैक्ट्री लगा देंगे.’

साथ ही गिरिराज सिंह ने कहा कि अब कई लोग यह सोच रहे होंगे कि गाय की फैक्ट्री कैसी होगी. सेरोगेट मदर की एम्ब्रियो ट्रांसप्लांट होगी. हम तकनीक को और ऊपर ले जा रहे हैं. जो गाय दूध देने लायक नहीं होगी या छोटी बछिया होगी हम उसके अंदर 20 लीटर दूध देने वाली गाय का आईवीएफ एम्ब्रियो एडवांस तकनीक का इस्तेमाल करेंगे. ऐसी क्रांति लाएंगे कि हमारे दूध की कीमत दुनिया के दूध की कीमत के बराबर नहीं होगी, दुनिया के दूध की कीमत ज्यादा होगी, हमारे दूध की कीमत कम होगी.’

आपको बता दें कि यह कोई पहला मौका नहीं है जब गिरिराज सिंह का इस तरह का बयान सामने आया है. इससे पहले हाल ही में उन्होंने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर कहा था कि जय कश्मीर, जय भारत, अबकी बार उस पार. हालाकिं अपने इस ट्वीट में उन्होंने कश्मीर का जिक्र नहीं किया लेकिन उनका इशारा समझा जा सकता है कि वे वह पाकिस्तानी कब्जे वाले कश्मीर की बात कर रहे थे.

वहीं एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने  पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की तुलना “भस्मासुर” से करते हुए कहा था कि उनका ‘आखिरी सहारा राहुल गांधी और कांग्रेस ही बचे हैं. साथ ही गिरिराज का कहना था कि इमरान खान का लक्षण बता रहा है कि यह पाकिस्तान का भस्मासुर बनेगा और मोदी के हाथों ही इसका पिंडदान होगा.