प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘डिवाइडर इन चीफ’ करार देने वाली टाइम मैगजीन ने यू टर्न ले लिया है. टाइम मैगजीन की वेबसाईट पर प्रकाशित हुआ नया आर्टिकल 10 मई के मैगजीन की कवर पेज से बिलकुल उल्टा है जिसमें पीएम नरेन्द्र मोदी की कई मुद्दों पर कड़ी आलोचना की गई थी. लेकिन 28 मई को ‘मोदी हैज यूनाइटेड इंडिया लाइक नो प्राइम मिनिस्टर इन डेकेड्स’ नाम से प्रकाशित हुए आर्टिकल में मैगजीन ने पीएम नरेन्द्र मोदी की जानकर तारीफ की है .

मनोज लडवा ने अपने इस आर्टिकल में लिखा है कि नरेन्द्र मोदी की नीतियों ने तमाम भारतीयों (जिसमें हिन्दू और धार्मिक अल्पसंख्यकों की बड़ी तादात शामिल है) को गरीबी से बाहर निकाला है जो  पिछली पीढ़ी के मुकाबले काफी तेज गति से हुआ है.इसके साथ ही मनोज लडवा ने लिखा है कि मोदी की नीतियों की कटु और अक्सर अन्यायपूर्ण आलोचनाओं के बावजूद उन्होंने अपने पिछले कार्यकाल और इस मैराथन चुनाव में भारतीय वोटरों को इस कदर एकजुट किया, जितना करीब 5 दशकों में किसी भी प्रधानमंत्री ने नहीं किया है.

मनोज लडवा ने अपने इस आर्टिकल में पीएम की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए लिखा है कि पहले जहां सिर्फ़ 40% घरों में शौचालय और बिजली थी तो वहीं नरेन्द्र मोदी के पीएम बनने के बाद देश के 95% घरों में शौचालय के अलवा लगभग हर घर में बिजली पहुंच चुकी है.  इसके साथ ही उनका कहना है कि सामाजिक रूप से पिछड़े हुए समुदाय में जन्म लेने के बावजूद भी उन्होंने देश के बड़े तबके का प्रतीनिधित्व किया. यही वजह है कि देशवासी उनसे जुडाव महसूस करते हैं. मनोज लडवा मानते है कि पीएम मोदी ने वो सब कुछ किया जो देश का कोई भी प्रधानमंत्री नहीं कर सका.

पीएम की तारीफ वाला यह आर्टिकल टाइम मैगजीन की वेबसाईट पर सबसे ज्यादा पढ़े जाने वाले आर्टिकल्स में से एक है. इस आर्टिकल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का एक वीडियो भी है जिसमें वे इस बात पर जोर देते नज़र आ रहे हैं कि लोगों से किसी भी तरह का भेदभाव नहीं किया जायेगा.आपको बता दें कि मनोज लडवा ने साल 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी के रिसर्च एनालिसिस एंड मैसेजिंग डिवीजन की कमान संभाली थी और ‘नरेंद्र मोदी फॉर पीएम’ अभियान चलाया था. हालांकि अपने आर्टिकल  में मनोज यह भी कहते नज़र आये हैं कि पीएम मोदी द्वारा किये गए ज्यादातर काम वर्क इन प्रोग्रेस की श्रेणी में हैं जिसकी विश्व बैंक, आईएमएफ़ और संयुक्त राष्ट्र संघ ने भी सराहना की है.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनावों के दौरान बीते 10 मई को टाइम मैगजीन में ‘डिवाइडर इन चीफ’ नाम के प्रकाशित एक आर्टिकल की  पीएम नरेन्द्र मोदी के समर्थकों ने कड़ी आलोचना की थी. वरिष्ठ पत्रकार पत्रकार आतिश तासीर ने अपने आर्टिकल में मॉब लिंचिंग और यूपी में योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाए जाने के फैसले सहित कई मुद्दों को लेकर मोदी सरकार खिंचाई की थी.