मध्य प्रदेश के उज्जैन के महिदपुर के सेमदिया गांव में 15 अगस्त के दिन एक कार उफनते नाले में बह गई थी। अब उस पूरी घटना का वीडियो सामने आया है। हादसे के वक़्त कार में दो महिला शिक्षकों के अलावा ड्राइवर सवार था। पिछले 24 घंटों से इनकी तलाश की जा रही थी। सुबह नाले का जलस्तर घटने पर गांववालों को एक कार नजर आई। आनन-फानन में कार को नाले से बाहर निकाला गया तो सबके होश उड़ गए। कार के भीतर दो महिला शिक्षकों के साथ ही ड्राइवर का शव बरामद हुआ। गांववालों ने शवों को नाले से बाहर निकाल लिया है।

जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक, कार में सवार शिक्षक बरखेड़ा खुर्द स्‍कूल में झंडावंदन कर लौट रहे थे, तभी यह हादसा हो गया। नाले में पानी का तेज बहाव कार को बहा ले गया। ध्‍वजारोहण और मिठाई वितरण के बाद करीब दस बजे ये वापस निकली थी। एक महिला शिक्षक का नाम शैलजा पारखी बताया जा रहा है। वो इंदौर की रहने वाली हैं। वहीं दूसरी शिक्षक नीता शेल्को उज्जैन की बताई जा रही हैं। इनके साथ एक अन्य महिला टीचर भी निकली थी। लेकिन मोटरसाइकिल पर सवार होने के चलते वो तो महिदपुर पहुंच गई। लेकिन बाकी लोग कार में सवार होने के चलते हादसे का शिकार हो गए।