भारत रत्न और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का लंबी बीमारी के बाद 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था. आज पहली पुण्यतिथि पर वाजपेयी को याद किया जा रहा है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह श्रद्धांजलि देने के लिए अटल स्मारक पहुंचे.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने ट्वीट कर अटल बिहारी वाजपेयी को याद किया. उन्होंने कहा, ”पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी को उनकी पहली पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि. आइए हम उनके शब्दों को याद करें: ”बंदूक कोई समस्या नहीं सुलझा सकती है. मुद्दों को इन्सानियत, जम्हूरियत और कश्मीरीयत के तीन सिद्धांतों से ही हल किया जा सकता है. ”

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बीजेपी के दिवंगत नेता अटल बिहारी वाजपेयी की पहली पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि देंगे. प्रधानमंत्री मोदी थोड़ी देर में पूर्व प्रधानमंत्री के स्मारक ‘सदैव अटल’ जाएंगे और वाजपेयी को श्रद्धांजलि देंगे. पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था. वह लंबे समय से बीमार थे. सदैव अटल स्मारक पर गृहमंत्री अमित शाह, बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा, पीयूष गोयल समेत बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद हैं.

बीजेपी ने अटल बिहारी वाजपेयी की याद में ट्वीट कर कहा, ”भारतीय जनता पार्टी के पितृ पुरुष, असंख्य कार्यकर्ताओं के पथ प्रदर्शक एवं हमारे प्रेरणा स्रोत भारत रत्न, पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी की प्रथम पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि.”

बीजेपी ने एक बयान जारी कर कहा है, ”’भारत रत्न’ पूर्व प्रधानमंत्री श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी की प्रथम पुण्यतिथि पर अटल स्मृति न्यास द्वारा ‘सदैव अटल’, राजघाट, नई दिल्ली में प्रार्थना सभा का आयोजन किया जा रहा है. आप सभी की उपस्थिति प्रार्थनीय है.”

अटल बिहारी वाजपेयी पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने थे लेकिन मात्र 13 दिनों में उनकी सरकार गिर गई थी. 1998 में वाजपेयी दोबारा प्रधानमंत्री बने, वह कार्यकाल पूरा नहीं कर सके. 1999 में प्रधानमंत्री बनने के बाद उन्होंने पांच साल का कार्यकाल पूरा किया. उन्हें 2014 में देश के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित किया गया.