राजस्थान प्रदेश कांग्रेस समिति की कार्यकारिणी की बैठक बुधवार को जयपुर में पार्टी मुख्यालय में हुई. राजस्थान कांग्रेस कमेटी में राहुल गांधी के अध्यक्ष बने रहने का प्रस्ताव पारित हो गया है. प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडेय ने ये जानकारी दी.

लोकसभा चुनाव के बाद आयोजित पहली बैठक में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के महासचिव और राजस्थान के प्रभारी अविनाश पांडे, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट और दूसरे नेता मौजूद थे. बैठक में अविनाश पांडेय ने राहुल गांधी के पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष बने रहने का प्रस्ताव रखा जिसे सीएम गहलोत और डिप्टी सीएम पायलट ने पास किया. सर्वसम्मति से राजस्थान कांग्रेस की बैठक में इस बात का प्रस्ताव पास हुआ कि राहुल गांधी ही कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर बने रहेंगे.

बैठक का एजेंडा नई दिल्ली में कांग्रेस कार्य समिति द्वारा पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के त्यागपत्र को अस्वीकार करने के संबंध में पास किये गये प्रस्ताव का समर्थन करना था. राजस्थान में लोकसभा चुनावों के परिणाम के बाद सत्ताधारी पार्टी की यह पहली बैठक है. राज्य की 25 लोकसभा सीटों में से पार्टी एक भी सीट पर जीत दर्ज नहीं कर पाई.

राजस्थान में सभी 25 लोकसभा सीटों पर कांग्रेस की हार हुई है. बीजेपी ने 24 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि एक सीट से बीजेपी की गठबंधन सहयोगी राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के हनुमान बेनीवाल विजयी हुए हैं.

राजस्थान की 200 विधायकों वाली विधानसभा में कांग्रेस के 100 विधायक हैं और पार्टी को समर्थन दे रहे राष्ट्रीय लोकदल के विधायक के साथ पार्टी बहुमत में है. कांग्रेस को बसपा के छह विधायकों के बाहर से सर्मथन के साथ ही 13 निर्दलीय विधायकों में से 12 निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन मिला हुआ है.