पूणे पुलिस ने गुरुवार को कोर्ट में मालेगांव हिंसा के आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में आरोपपत्र दायर किया है. पुलिस ने कोर्ट में तकरीबन 5160 पन्नों का आरोपपत्र दायर किया है.

कोर्ट के मुताबिक, आरोपपत्र में आरोपियों के खिलाफ कई चौंकाने वाले तथ्यों का उजागर हुआ है. आरोपपत्र में कहा गया है कि आरोपी देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मौत के घाट उतारने चाहते थे. इसके साथ ही देश कि स्थिति को गृह युद्ध में तब्दील करने की साजिश थी. इतना ही नहीं, आरोपियों ने कुचक्र रचा था कि देश की जातिय समीकरण को बिगाड़ कर लोकतंत्र को जड़ से उखाड़ फेंकना है. इसके लिए वे काफी लंबे समय से प्रशिक्षण भी प्राप्त कर रहे थें और सही मौके की तलाश कर रहे थें.

बता दें कि आरोपपत्र में पुलिस ने कई आरोपियों के नाम का उजागर भी किया है, जिसमें सुधीर ढ़लवे, रोना जैकब विल्सन, सुरेंद्र पुंडलीकराव, गुड़लींग, शोमा क्रांति सेन, महेश सीता राम का नाम शामिल है.

गौरतलब है कि बीते दिनों पुलिस ने भीमा कोरेगांव हिंसा के आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था. इसके साथ ही कोर्ट में कई दफे सुनवाई के लिए भी पेश किया गया. हालांकि, अभी तक ये मामला पुलिस के समक्ष विचाराधीन है. अभी तक इस पर कोई अंतिम फैसला नहीं आया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here