जैसे जैसे वोटों की गिनती की जा रही थी नरेंद्र मोदी की जीत और भी पक्की होती जा रही थी। ठीक उसी वक़्त दिल्ली से हज़ारों किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश के गोंडा ज़िले के वजीरगंज के एक मुस्लिम परिवार के आंगन में बच्चे की किलकारियां गूंज उठीं। मोहम्मद इदरीस की बहू ने एक बच्चे को जन्म दिया। जब पूरा घर जश्न मना रहा था और बच्चे के नमकरण की तैयारी कर रहा था, उसी वक़्त बच्चे की माँ ने सबको ये कहकर चौंका दिया की उसने बच्चे का नाम सोंच लिया है।

माँ ने बताया कि, उसने बच्चे का नाम  रेंद्र दामोदर दास मोदी रखने की जिद पकड़ ली है, पहले तो ससुराल वालों ना नुकुर की पर ससुर मोहम्मद इदरीस ने बहू के फैसले पर सहमत जताई। दुबई में नौकरी कर रहे शौहर मुश्ताक अहमद से भी मोबाइल पर रजामंदी ली गई और बच्चे का नाम नरेंद्र दामोदर दास मोदी रख दिया।

बच्चे की मैनाज बेगम कहती हैं कि वो नरेन्द्र मोदी जी के बारे में देखती सुनती आ रही हैं। वो कहती हैं मोदी जी अच्छा काम कर रहे हैं, वे दोबारा आए तो उनके लिए बच्चे का नामकरण एक तोहफा भर है। बोली तीन तलाक पर कानून बना कर मोदी जी ने मुस्लिम महिलाओं को बड़ा सहारा दिया है।

मैनाज बेगम ने डीएम के नाम एक शपथ पत्र बनवाया है। इसे ससुर मोहम्मद इदरीस ने डीएम के कैम्प कार्यालय में शुक्रवार को रिसीव करा दिया है। एडीओ पंचायत वजीरगंज घनश्याम पाण्डेय को भी शपथ पत्र दिया गया है। श्री पाण्डेय ने बताया कि शपथ पत्र मिला है। इसे वीडीओ परसापुर महरौर को भेजा गया है। परिवार रजिस्टर में नवजात बच्चे का नाम नरेन्द्र दामोदर दास मोदी दर्ज हो जाएगा।