लोकसभा और भाजपा से इस्तीफा दे चुके नाना पटोले ने गुजरात में आयोजित एक चुनावी रैली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ मंच साझा किया और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने दावा किया कि उनसे मिलने के लिए गये वरिष्ठ सांसदों के साथ उन्होंने ‘अभद्र’ व्यवहार किया था.  रैली को संबोधित करते हुये पटोले ने कहा कि उन्होंने भाजपा से अलग होने का निर्णय इसलिए लिया क्योंकि नरेन्द्र मोदी किसानों के मुद्दों को सुलझाने में नाकाम रहे और स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू करने के अपने वादों पर कायम नहीं रहे. महाराष्ट्र के भंडारा-गोंडिया संसदीय क्षेत्र से पूर्व सांसद ने आरोप लगाया कि एक बार मोदी से मिलने उनके आवास पर गये वरिष्ठ सांसदों के साथ उन्होंने अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के नेता नाना पटोले ने 8 दिसंबर को घोषणा की कि उन्होंने लोकसभा सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है और बीजेपी को भी छोड़ दिया है. इसके बाद अगले दिन उन्होंने नागपुर में मीडिया से बात करते हुए कहा कि पीएम मोदी राजनीतिक फायदे के लिए अपनी ओबीसी पृष्ठभूमि का इस्तेमाल कर रहे हैं, जबकि उन्होंने अत्यंत पिछड़ा वर्ग और किसानों के फायदे के लिए कुछ भी नहीं किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here