राजठाकरे की महाराष्ट्र नव निर्माण सेना (मनसे) के कार्यकर्ताओं की गुंडागर्दी का मामला सामने आया है. मामला मुंबई से लगे अंबरनाथ इलाक़े का है. जहां राजठाकरे की आलोचना करने पर एक शख्स से उठक-बैठक करवाई गई. जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है.

पुलिस के मुताबिक घटना उस समय हुई जब अंबरनाथ पूर्व में धारा रेसीडेंसी सोसायटी के रहने वाले संदीप तिवारी ने एक व्हाट्सएप ग्रुप में राजठाकरे के एक वीडियो पर आपत्ति जताते हुए कमेन्ट किया था. जिसकी शिकायत किसी ने मनसे नेता
राकेश पाटिल से कर दी थी. फिर क्या था मनसे कार्यकर्ताओं ने संदीप तिवारी को न सिर्फ सजा के तौर पर 25 बार उठक बैठक करने पर मजबूर किया. बल्कि उसका एक वीडियो भी बनाया जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है. इस वीडियो में संदीप तिवारी हाथ बांधे मनसे नेताओं से माफ़ी मांगते नज़र आ रहे हैं. लेकिन मनसे नेताओं ने उनकी एक ना सुनी और उन्हें उठक बैठक करने पर मजबूर किया.

घटना के सामने आने के बाद जब संदीप तिवारी से संपर्क करने की कोशिश की गई तो उनसे संपर्क नहीं हो पाया. कुछ लोगों का कहना है कि वे मामले को टूल नहीं देना चाहते इसलिए शहर से बाहर चले गए हैं. दूसरी तरफ मनसे प्रवक्ता  संदीप देशपांडे ने कहा कि इस तरह की घटनाएं बर्दाश्त नहीं की जाएंगी. अगर आलोचना सकारात्मक तरीके से की जाती है तो हम उसका स्वागत करते हैं. लेकिन घटिया और भद्दे कमेन्ट करने वालों को मनसे स्टाइल में जवाब दिया जायेगा.

जबकि अंबरनाथ मनसे प्रमुख कुनाल भोईर ने बताया कि इस मामले के सामने आने के बाद धारा रेसीडेंसी सोसायटी के कुछ लोगों ने संदीप तिवारी से कमेन्ट डिलीट करने के लिए भी कहा था. लेकिन जब उन्होंने ऐसा नहीं किया तो मनसे ने अपनी शैली में संदीप तिवारी को जबाब दिया.