निर्वाचन आयोग से बीजेपी नेता और पंजाब के गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार सनी देओल को झटका लगा है। आयोग ने आदर्श आचार संहिता का कथित तौर पर उल्लंघन करने के लिए सनी देओल को नोटिस भेजा है। सनी देओल पर आरोप है कि चुनाव प्रचार बंद होने के बाद शुक्रवार रात को पठानकोट में उन्होंने जनसभा की। बीजेपी नेता के इस कदम पर आयोग ने संज्ञान लिया है।

आयोग के अधिकारियो ने यह भी पाया कि जनसभा में एक लाउड स्पीकर का इस्तेमाल किया गया जहां करीब 200 लोग मौजूद थे। नोटिस में कहा गया है कि प्रचार बंद होने के दौरान जनसभा करके देओल ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

मतदान प्रक्रिया के 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार अभियान पूरी तरह प्रतिबंधित है। पंजाब में सभी 13 लोकसभा सीटों पर मतदान रविवार को होगा। सनी देओल गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस के सुनील जाखड़ के खिलाफ चुनाव लड़ रहे हैं।

पंजाब के गुरदासपुर संसदीय क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी)-अकाली दल के उम्मीदवार सनी देओल ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने प्रतिशोध के मुद्दों के साथ राजनीति में प्रवेश नहीं किया है। बटाला में सिलसिलेवार चुनावी रैलियों को संबोधित करते हुए अभिनेता से नेता बने सनी देओल ने कहा कि उनके खिलाफ अनावश्यक बयान जारी किए गए हैं।

सनी देओल ने कहा कि वह ऐसे बयानों पर जवाब देने में अपना समय बर्बाद नहीं करेंगे और इस सीट को जीतने के अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए कड़ा परिश्रम करेंगे। उन्होंने मतदाताओं से क्षेत्र की देखभाल करने वाले उम्मीदवार को वोट देने के लिए कहा। क्षेत्र के विधायक लखबीर सिंह लोधीनांगल ने कहा कि न ही कांग्रेस उम्मीदवार सुनील जाखड़ और न ही मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह क्षेत्र में विकास कार्य शुरू कर सके और न ही इन्होंने क्षेत्र की बेहतरी के लिए कुछ किया।

बॉलिवुड अभिनेता विनोद खन्ना इस सीट से लंबे समय तक बीजेपी के सांसद रहे थे। उनकी मृत्यु के बाद हुए उपचुनाव में कांग्रेस नेता सुनील जाखड़ ने इस सीट पर जीत हासिल की और फिलहाल वही सांसद हैं। सुनील जाखड़ को हराकर सीट वापस पाने के लिए बीजेपी ने बॉलिवुड ऐक्टर सनी देओल को इस सीट से उम्मीदवार बनाया है।