अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले बीजेपी नेता और कर्नाटक के ग्रामीण विकास और पंचायती राज मंत्री केएस ईश्वरप्पा ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है. उन्होंने रविवार को कहा कि देशभक्त मुसलमान बीजेपी को वोट देंगे जबकि पाकिस्तान समर्थक ऐसा करने से हिचकिचाएंगे. ईश्वरप्पा ने लोकसभा चुनाव से पहले कहा था कि बीजेपी की तरफ से मुसलमानों को टिकट नहीं दिया जाएगा. बीजेपी नेता ईश्वरप्पा ने कहा कि प्रदेश में उनकी सरकार गौकशी पर प्रतिबंध लगाएगी.

बीजेपी नेता के एस ईश्वरप्पा यहीं नहीं रुके और उन्होंने कहा कि शिवमोग्गा में उनके निर्वाचन क्षेत्र में 50,000 से अधिक मुस्लिम मतदाता हैं और वह कभी भी उनसे वोट मांगने नहीं गए. उन्होंने कहा कि प्रदेश में बीजेपी के सत्ता में आने से पहले वह कुछ कांग्रेस विधायकों से मिले तो जो सिर्फ मुस्लिम वोट कटने के डर से बीजेपी में शामिल नहीं होना चाहते थे. बीजेपी नेता ने ऐसे नेताओं को ‘डरपोक’ करार दिया

केएस ईश्वरप्पा बोले

बीजेपी नेता ने ईश्वरप्पा ने कहा, “अखंड भारत हर किसी की तमन्ना है. ऐसा इसलिये नहीं हो पा रहा है क्योंकि राजनीतिक नेताओं के एक वर्ग को डर है कि उन्हें मुसलमानों का वोट नहीं मिल पाएगा.” उन्होंने कहा, “बीजेपी के सत्ता में आने से पहले मैं कांग्रेस के कुछ विधायकों से मिला जो बीजेपी में शामिल होना चाहते थे, लेकिन उनका दावा था कि उनके पास उनकी विधानसभाओं में 50 हजार से ज्यादा मुस्लिम वोट हैं और अगर वे उन्हें खो देंगे तो उन्हें हार का सामना करना पड़ सकता है, जो कि ‘हिजड़ों’ के व्यवहार की तरह था.”

ईश्वरप्पा ने कहा, “मैंने कांग्रेस विधायकों को कहा कि मेरे निर्वाचन क्षेत्र में मेरे समुदाय कुरुबा के लगभग 8,000-10,000 मतदाता हैं और 50,000 से अधिक मुस्लिम वोट हैं. मैं आज तक वोट के लिये एक भी मुसलमान को सलाम ठोकने नहीं गया. मैंने 47,000 से अधिक मतों से जीत हासिल की.” मंत्री ने कहा, “एक राष्ट्रभक्त मुसलमान बीजेपी को वोट देगा और जो पाकिस्तान समर्थक और राष्ट्रद्रोही हैं वे बीजेपी को वोट देने में संकोच करेंगे.” ईश्वरप्पा ने अप्रैल में लोकसभा चुनावों से पहले कहा था कि बीजेपी मुसलमानों को चुनाव लड़ने के लिए टिकट नहीं देगी क्योंकि वे पार्टी में विश्वास नहीं करते.