delhi ncr is under the risk of poisonous smog

दिल्ली-एनसीआर में सोमवार शाम से ज़हरीले स्मॉग का कहर जारी है. स्मॉग की वजह से सड़कों पर चलना मुश्किल हो गया है. विजिबिलिटी घटकर 500 मीटर तक पहुंच गई थी, मंगलवार सुबह तो और ज्यादा हालत खराब है, जहाँ इस स्मॉग की वजह से स्वास्थ्य समस्याएँ पैदा हो रही हैं वहीँ रोड एक्सीडेंट्स का भी खतरा बना हुआ है.

मौसम विभाग का कहना है कि जहरीले स्मॉक का कहर तीन से पांच दिनों तक ऐसा ही बना रहेगा। मंगलवार सुबह लोगों ने पाया कि दिल्ली-एनसीआर स्मॉग की चादर लपेटे हुए है।

उधर, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने दिल्ली में हेल्थ एमरजेंसी घोषित किया है। IMA अध्यक्ष डॉक्टर केके अग्रवाल के मुताबिक,दिल्ली-एनसीआर में तत्काल स्कूल बंद किए जाने चाहिए।

दिल्ली के कई इलाकों में एयर क्वॉलिटी ‘बेहद खराब’ की कैटिगरी में बनी हुई है। दिल्ली के लोधी रोड का बुरा हाल है। वहीं, इंडिया गेट के आसपास भी हालात बदतर हैं।

Read Also: बिहार: कार्तिक पूर्णिमा स्नान के दौरान मची भगदड़, 3 लोगों की मौत

वहीं, मंगलवार सुबह दिल्ली में लोगों की सुबह ने उन्हें साल 2016 में छाए स्मॉग की याद दिला दी। स्मॉग की वजह से लोगों को काफी दिक्कतें हो रही थीं।

मौसम विभाग के अधिकारियों ने बताया है कि तीन-चार दिन बाद ही इससे राहत की उम्मीद है। पिछले साल दीपावली पर स्मॉग छा गया था, जिस कारण लोगों को बहुत ज्यादा परेशानी हुई थी। साधारणतया तौर पर कोहरे की स्थिति तब होती है जब विजिबिलिटी 200 मीटर से कम होती है।

स्मॉग में बरतें सावधानी

1. प्रदूषण का स्तर बढ़ने पर घर से बाहर जाने से बचें।
2. धूप निकलने के बाद ही घर से बाहर निकलें।
3. अगर किसी बीमारी की दवाएं ले रहे हैं तो रेग्युलर लेते रहें। ऐसा न करने पर हालत खराब हो सकती है।
4. सर्दी के मौसम में ज्यादा एक्सर्साइज (ब्रिस्क वॉक या जॉगिंग आदि) न करें। प्राणायाम और योग करना ही काफी होगा।
5. सर्दियों में अगर बाहर निकलना ही पड़े तो अच्छी क्वॉलिटी का मास्क लगाकर निकलें।
6. टू व्हीलर या ऑटो में सफर की बजाय टैक्सी या कंट्रोल माहौल वाले मेट्रो या एसी बसों में ही यात्रा करें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here