ठाणे की एक अदालत ने बुधवार को कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी और माकपा नेता सीताराम येचुरी को समन भेजे। अदालत ने इन दोनों नेताओं को मानहानि के इस मामले में 30 अप्रैल को हाजिर होने के निर्देश दिए हैं। यह मुकदमा संघ कार्यकर्ता विवेक चंपानेरकर ने दाखिल किया है। मामले में आरोप है कि दोनों नेताओं ने गौरी लंकेश हत्‍याकांड में आरएसएस का हाथ होने की बात कही थी।

इस मामले में प्रतीकात्मक तौर पर मात्र एक रुपये के मुआवजे की मांग की गई है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता विवेक चंपानेरकर का आरोप है कि दोनों नेताओं ने आरएसएस को गौरी लंकेश की हत्या से जोड़कर उसको बदनाम किया है। इस मामले की सुनवाई सिविल कोर्ट के जज जेएस भाटिया कर रहे हैं। याचिका में चंपानेरकर की ओर से आरोप लगाया गया है कि राहुल गांधी और सीताराम येचुरी की आदत किसी भी हिंसा में आरएसएस को बदनाम करने की हो चली है, जिसको रोकने की जरूरत है।