Lok Sabha Election 2019: बिहार के बेगूसराय जिले में बुधवार को जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष और सीपीआई के उम्मीदवार कन्हैया कुमार के रोड शो का विरोध किए जाने के साथ उन्हें काले झंडे भी दिखाए गए. बेगूसराय के कपसिया चौक से निकलकर लोहियानगर पहुंचने पर कन्हैया के रोड शो का विरोध किए जाने के साथ उन्हें काले झंडे दिखाए गए. विरोध करने वालों ने कन्हैया के समर्थकों के साथ धक्का-मुक्की, मारपीट किया और अभद्र भाषा का प्रयोग करने के साथ आपत्तिजनक नारेबाजी की.

लोहियानगर पुलिस चौकी में पदस्थापित सहायक आरक्षी निरीक्षक महेश प्रसाद सिंह ने इस संबंध में इस चौकी के थाना अध्यक्ष को लिखित आवेदन दिया है. इसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता गोलू कुमार पर अपने चार-पांच अन्य कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर ऐसा आचरण करने और उनके इस आचरण को चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताया है.

लोहियानगर पुलिस चौकी प्रभारी राम प्रताप पासवान ने बताया कि उन्हें मिली लिखित शिकायत में एक के विरुद्ध नामजद और चार अन्य को आरोपी बनाया गया है. बाकी अन्य की पहचान वीडियो देखकर किए जाने का प्रयास किया जा रहा है. कन्हैया ने इसे दुखद स्थिति बताते हुए बीजेपी प्रत्याशी और केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह पर हमला कराने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि पता नहीं बीजेपी कैसी परिपाटी की शुरूआत करना चाहती है. लोकतंत्र में चुनाव के दौरान जिसको भी विरोध करना है वोट देकर करें. इस तरह से रास्ता रोकना…अगर यह चलन शुरू हो जाए तो अलग अलग पार्टी एक दूसरे का रास्ता रोकेंगी.

वहीं, बेगूसराय से बीजेपी प्रत्याशी गिरिराज सिंह ने कन्हैया का नाम लिए बिना उनकी ओर इशारा करते हुए कहा कि यहां उनकी सीधी लडाई विकृत मानसिकता, विकृत राष्ट्रवाद की सोच, देश को तोडने वालों, आतंकवाद को गले लगाने वालों, भारत के शौर्य एवं एयर स्ट्राइक को नकारने वालों, भारत में कौन सा चाहिए सबूत वाला या सपूत वाला और बेगूसराय में विकास को रोकने वालों से है.