लोकसभा चुनाव की घोषणा के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पहली बार बिहार पहुंचे। राहुल ने पूर्णिया से बिहार में चुनाव प्रचार का आगाज किया। वह पूर्णिया के रंगभूमि मैदान में चुनावी सभा को संबोधित किया। राहुल ने अपने संबोधन में बीजेपी पर निशाना साधा। राहुल ने यहां कहा कि मैं बीजेपी, आरएसएस और पीएम से नहीं डरता, सिर्फ सच्चाई को मानता हूं।

कांग्रेस अध्यक्ष ने रैली को सम्बोधित करते हुए कहा कि, किसानों की कर्जमाफी मेरी प्राथमिकता है। हामरी पार्टी कि सरकार जहाँ जहाँ बानी है तीनों राज्यों (राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़) में दस दिनों के भीतर किसानों की कर्ज माफी शुरू कर दी है । इसी तरह अगर कांग्रेस की सरकार आई तो दस दिन के अंदर किसनों का कर्जा माफ किया जाएगा।

राहुल ने कहा कि 2019 के बाद मिनीमम आमदनी लाइन बनाएंगे और उससे नीचे आय वालों के अकाउंट में सीधा पैसा जाएगा। साथ ही कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि किसान को उसकी फसल का सही दाम मिलना चाहिए और पूर्णिया में फूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाना चाहिए।

राहुल यहां सभा को संबोधित करने के बाद वह मालदा के लिए रवाना होंगे। मालदा से हेलीकॉप्टर से वापस वह चुनापूर हवाई अड्डा आएंगे और जहाज से वापस दिल्ली जाएंगे। राहुल की सभा को लेकर एसपीजी की टीम दिल्ली से दो दिन पहले पूर्णिया पहुंच गई थी। रंगभूमि मैदान और इसके आसपास सुरक्षा व्यवस्था का पुख्ता इंतजाम किया गया है। राहुल गांधी के साथ सभा में बिहार के प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मदन मोहन झा, बिहार चुनाव अभियान कमेटी के अध्यक्ष अखिलेश सिंह, बिहार महिला कांग्रेस अध्यक्ष अमिता भूषण मंच पर मौजूद रहे।