Pollution

पिछले कुछ सालों से भारत का प्रदूषण स्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है भारत की सड़कों पर आज पिछले 10 साल के मुकाबले कहीं ज्यादा वाहन मौजूद हैं। और इसी वजह से जाम और प्रदूषण की समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है।

[contact-form][contact-field label=”Name” type=”name” required=”true” /][contact-field label=”Email” type=”email” required=”true” /][contact-field label=”Website” type=”url” /][contact-field label=”Message” type=”textarea” /][/contact-form]

आपको बता दें कि एक रिपोर्ट में यह चौंकाने वाला खुलासा हुआ है कि अब लोग ट्रेन और बसों में सफर करने की बजाय अपने निजी वाहन से चलना पसंद करते हैं इन वाहनों में बाइक और कार शामिल है।

Global consultancy firm a t kearney के मुताबिक साल 2014 से 2017 के बीच निजी वाहनों में 8 से 10 फ़ीसदी की बढ़ोतरी आई है। ऐसा कहा जा रहा है कि इसके पीछे की वजह सिटी बसों का खराब इंफ्रास्ट्रक्चर है, और यही वजह है कि लोग अब बस और ट्रेनों में सफर करने की बजाय अपने खुद के साधन से कहीं भी आना जाना पसंद करते हैं। इस वजह से भारत का प्रदूषण स्तर तेजी से बढ़ता जा रहा है अगर इस समस्या से निपटने के लिए जल्द ही कोई कदम नहीं उठाए गए तो स्थिति भयावह हो सकती है।

आपको बता दें कि आज से 10 से 15 साल पहले तक लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट से ही चलना पसंद करते थे, लेकिन धीरे-धीरे पब्लिक ट्रांसपोर्ट से लोगों का मन उखड़ने लगा है। यही वजह है कि भारत के तमाम शहरों की सड़कें अब निजी वाहनों से पटी रहती हैं और लोगों को घंटों जाम में फंसे रहना पड़ता है। इस समस्या से निपटने में अब सरकार के भी हाथ पांव फूल दे नजर आ रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here