उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश और राजस्थान सहित पूरे उत्तर भारत के लिए आंधी आतंक बनी हुई है. आंधी-तूफान और आकाशीय बिजली के कारण पिछले 24 घंटोंं में बिहार में 19, झारखंड में 12 और उत्तर प्रदेश में 10 लोगों के मरने की खबर है. बिहार सरकार ने मारे गए लोगों के परिवारवालों को चार लाख रुपए मुआवजा देने का एलान किया है. उत्तर प्रदेश के हरदोई, सीतापुर और फर्रुखाबाद के लिए मौसम विभाग ने चेतावनी जारी की है कि अगले तीन घंटों में यहां बारिश, आंधी और कहीं-कहीं ओले गिर सकते हैं.

एक तरफ कई राज्यों के लोग आंधी-तूफान से त्रस्त हैं, वहीं देश के कई हिस्सों में लू का प्रकोप जारी है. 6 राज्यों के 18 शहरों में सोमवार को पारा 44 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा दर्ज किया गया. लू भी जानलेवा साबित हो रहा है. पंजाब के कपूरथला में लू की चपेट में आ जाने से एक मजदूर की मौत हो गई. 42 वर्षीय सतनाम सिंह सुंदरनगर का रहने वाला था, जो काम से घर लौटने के बाद अचेत हो गया था, उसे अस्पताल ले जा गया, लेकिन उसकी मौत हो गई. मौसम विभाग का कहना है कि अगले एक-दो दिन में मौसम में बदलाव के आसार हैं और लोगों को गर्मी से राहत मिल सकती है.

इधर, झुलसा देने वाली गर्मी के बीच मानसून आज केरल पहुंच गया है. मौसम विभाग ने इसे लेकर आधिकारिक घोषणा की है कि एक जून से तीन दिन पहले मानसून ने केरल में दस्तक दी है. इसके साथ ही केरल सहित दक्षिण के तटवर्ती इलाकों में बारिश शुरू हो गई है. मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि तमिलनाडु, बंगाल की खाड़ी और अंडमान सागर के बाकी भागों में तेज बारिश के आसार हैं. हालात अनकूल रहने की स्थिति में मानसून 12 से 15 जून के बीच मध्य प्रदेश में आ सकता है. गौरतलब है कि मौसम विभाग ने इस बार देश में सामान्य मानसून का अनुमान जाहिर किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here