हिममानव यानि येति को दिखने का जब भी दावा किया जाता हैं। इसके अस्तित्व पर सवाल उठ खड़े होते हैं। क्या हिममानव का अस्तित्व है और यदि इस बर्फिले इलाके में हिममानव रहता है तो कहां है हिममानव का ठिकाना। साथ ही इस निर्जन बर्फिले इलाके में वो रहस्यमयी जीव कैसे ज़िंदा रहता है। इस तरह के तमाम सवाल सबके जेहन में उठता है। लेकिन जवाब किसी के पास नहीं है। लेकिन इस बार हिमानव के अस्तित्व से जुड़ा एक बड़ा खुलासा सामने आया है और इस बार ये दावा किसी और ने नहीं बल्कि खुद भारतीय सेना ने दिए हैं। इतना ही नहीं भारतीय सेना ने हिमानव की मौजूदगी के संकेत दिए हैं।

ये पहली बार होगा जब इस बार भारतीय सेना ने हिममानव ‘येती’ की मौजूदगी को लेकर कुछ सबूत पेश किए हैं। इस संबंध में ट्विटर पर कुछ तस्वीरें शेयर की गई हैं जिसमें बर्फ पर पैरों के बड़े निशान नजर आ रहे हैं। ऐसा कहा जा रहा है कि ये निशान हिममानव ‘येती’ के हो सकते हैं। सेना के जन सूचना विभाग की तरफ से किए गए ट्वीट में कहा गया है,’पहली बार भारतीय सेना की एक पर्वतारोही टीम ने मकालू बेस कैंप के करीब 32×15 इंच वाले रहस्यमयी हिममानव ‘येती’ के पैरों के निशान देखे हैं। यह मायावी स्नोमैन इससे पहले केवल मकालू-बरुन नैशनल पार्क में देखा गया है।’

कौन होते हैं हिममानव ?
दरअसल हिममानव को जब भी देखा गया है, वो थोड़ी देर के लिए तो दिखाई देता है लेकिन पल भर में गायब हो जाता है और वो रहस्यमयी जीव कहां बर्फ़ में गुम में हो जाता है ये आज भी रहस्य बना हुआ है। हिममानव कितना रहस्यमयी है इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि भारत, नेपाल और तिब्बत के दुर्गम और निर्जन हिमालय क्षेत्र में सैकड़ों बर्षों से लोग इसे देखते आ रहे हैं, लेकिन इंसान हिममानव के पहुंच से अब तक दूर है। रहस्यमयी हिममानव यानि येति के अस्तित्व को लेकर तमाम तरह की बातें कही जाती है। लेकिन बर्फिले निर्जन इलाके में दिखने वाला रहस्यमयी हिममानव यानि येति अब तक दुर्गम इलाके में ही देखा गया है। लेकिन निर्जन पहाड़ों के बर्फिली चोटियों के बीच वो कहां गायब हो जाता है, इससे हर कोई अंजान है। येति का यदि बर्फ में ठिकाना है तो हो सकता है कि येति पहाड़ के किसी गुफा में रहता हो या फिर येति बर्फ़ में छिपने में माहिर हो तभी तो थोड़ी देर दिखने के बाद वो गायब हो जाता है।