देश आज 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. इस मौके पर राजपथ पर देश की सैन्य ताकत के साथ-साथ देश की संस्कृति और विकास की झलक भी देखने को मिलेगी. इस साल दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सीरिल रामफोसा के साथ उनकी पत्नी डॉ. शेपो मोसेपे गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि हैं. इस साल गणतंत्र दिवस परेड का समय करीब 90 मिनट होगा. परेड के मुख्य आकर्षणों में 58 जनजातीय अतिथि, विभिन्न राज्यों और केंद्र सरकार के विभागों की 22 झाकियां तथा विभिन्न स्कूलों के छात्रों द्वारा दी जाने वाली प्रस्तुतियां होंगी.

समारोह की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडिया गेट स्थित अमर जवान ज्योति पर शहीदों को पुष्पचक्र चढ़ाकर करेंगे. अमर जवान ज्योति के बाद पीएम मोदी राजपथ पर पहुंचेंगे. इसके बाद राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और मुख्य अतिथि राजपथ पर पहुंचेंगे जहां उन्हें पीएम मोदी समेत सभी गणमान्य लोग रिसीव करेंगे. इसके बाद राष्ट्रपति झंडा फहराएंगे और राष्ट्रगान होगा. इसके बाद परेड शुरु होगी. परेड में राजपथ पर ऐतिहासिक डेयरडेविल टीम के तहत असम राइफल्स की एक टुकड़ी की अगुवाई में अदम्य नारी शक्ति का प्रदर्शन होगा और एक अकेली महिला अधिकारी बाइक पर स्टंट दिखायेंगी.

पहली बार आजाद हिंद फौज के 90 साल से अधिक उम्र के चार सैनिक भी इस परेड में हिस्सा लेंगे. नौसेना, सेना सेवा कोर की टुकड़ियों और कोर ऑफ सिग्नल्स की इकाई की भी अगुवाई महिला अधिकारी करेंगी. सिग्नल कोर की कप्तान शिखा सुरभि अपनी टीम के पुरुष सहयोगियों के साथ बाइक स्टंट करेंगी. मेजर खुशबू कंवर (30) देश के सबसे पुराने अर्द्धसैनिक बल असम राइफल्स की टुकड़ी की अगुवाई करेंगी.

तोप एम 777 अमेरिकन अल्ट्रा लाइट होवित्जर और के 9 वज्र भी इस साल की परेड में शामिल किये गये हैं. हाल ही में अमेरिका से एम 777 अमेरिकन अल्ट्रा लाइट होवित्जर खरीदा गया है. स्वचालित वज्र प्रधानमंत्री की मेक इन इंडिया पहल का प्रतीक है. राष्ट्रीय पुरस्कार से नवाजे गए 26 बच्चे भी खुली जीप में बैठकर झांकी का हिस्सा बनेंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 70वें गणतंत्र दिवस के मौके पर शनिवार को देशवासियों को बधाई दी। 

उन्होंने ट्वीट किया, “सभी भारतवासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई।”

इस मौके पर कई नेताओं ने बधाई देने के लिए सोशल मीडिया को माध्यम बनाया।

केंद्रीय मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने ट्वीट किया, “गणतंत्र दिवस 2019 के मौके पर चलिए, देश के प्रति अपने संकल्प को दोहराते हैं, आइए हम संविधान में निहित न्याय, स्वतंत्रता एवं समानता के आदर्शों को जीने का प्रयास करें। आइए… एक बेहतर, मजबूत भारत की ओर बढ़ते हैं। चलिए गर्व के साथ, एक स्वर में कहें : जय हिंद।”

केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने ट्वीट किया, “गणतंत्र दिवस 2019 की सभी को बधाई।”

रेल मंत्री पीयूष गोयल, केंद्रीय मंत्रियों… मेनका गांधी, स्मृति ईरानी, प्रकाश जावड़ेकर और जे पी नड्डा एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्विटर के माध्यम से लोगों को बधाई दी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र द्वारा इंडिया गेट पर अमर जवान ज्योति पर पुष्पचक्र अर्पित करने के बाद गणतंत्र दिवस परेड शुरू होगी। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सिरिल रामफोसा इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि होंगे।

राष्‍ट्रपति का राष्‍ट्र के नाम संदेश

70वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर राष्ट्र के नाम संबोधन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, ‘‘हम सब अपने गणतन्त्र की यात्रा में, तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। मुझे विश्वास है कि संवैधानिक आदर्शों के वाहक के रूप में आगे बढ़ते हुए, हम भारत के लोग, अपने गणतन्त्र के लक्ष्यों को प्राप्त करने में निश्चित रूप से सफल होंगे।’’ उन्होंने कहा कि भारत के महान गणतंत्र ने एक लंबी यात्रा तय की है। लेकिन अभी हमें बहुत आगे जाना है। खासकर , जो भाई – बहन विकास की दौड़ में पीछे रह गए हैं , उन सबको साथ लेकर आगे बढ़ना है।”

तीन साल बाद गणतंत्र दिवस झांकी में शामिल होगा रेलवे

भारतीय रेल तीन साल के अंतराल के बाद इस साल गणतंत्र दिवस परेड में अपनी झांकी प्रस्तुत करेगा। इस झांकी में ‘मोहनदास करमचंद गांधी के महात्मा गांधी बनने को दर्शाने के साथ साथ बुलेट ट्रेन एवं ट्रेन 18 को दर्शाया जाएगा।  झांकी ‘मोहन से महात्मा’ में ‘मोहनदास करमचंद गांधी के महात्मा गांधी बनने’ की 1893 की उस घटना को दर्शाया जाएगा जब युवा मोहनदास को दक्षिण अफ्रीका में पीटरमैरिट्सबर्ग रेलवे स्टेशन पर ‘केवल यूरोप के लोगों के लिए आरक्षित’ डिब्बे से नीचे फेंक दिया गया था। इस घटना ने उन्हें ‘सत्याग्रह’ करने के लिए प्ररित करने का काम किया था।