पटना : बिहार पुलिस ने अचानक एक साथ प्रदेश के कई जेलों में छापेमारी की। छापेमारी इस सूचना पर की गई थी की जेल के अंदर हथियार से लेकर ड्रग्स और मोबाइल तक लाया जा रहा है। जेल के अंदर से ही अपराध का कारोबार पूरी तरह से फल फूल रहा है। इसी खबर पर जब गुरुवार को बिहार की सभी जेलों में एक साथ छापेमारी की गई तो प्रशासन भी हक्का बक्का रह गया। जेल के अंदर वो सब सामन मिले जो पूरी तरह से प्रतिबंधित थे। कई जिला जेलों से मोबाइल और अन्य आपत्तिजनक सामान मिले।

सबसे पहले भीहर के सबसे सुरक्षित और बड़े जेल पटना के बेउर जेल में एसएसपी गरिमा मलिक के नेतृत्व में छपेमारी की गई। छापेमारी के दौरान मोबाइल, चाकू, ड्रग्स ज़ब्त किए गए। वहीं सीवान जेल में जिला प्रशासन की टीम ने छापेमारी की। सुबह-सुबह छापेमारी टीम के पहुंचते ही जेल में खलबली मच गई। अभी बंदी नीद से जगे ही थे कि काफी तादाद में पुलिसबल के साथ पहुंचे एसडीओ सदर व डीडीसी ने जेल के सभी वार्डों का निरीक्षण किया। हालांकि इस दौरान किसी भी तरह के आपत्तिजनक सामग्री के मिलने की सूचना नहीं है।

आरा जेल में छापेमारी के दौरान मोबाइल, चार्जर, स्क्रू ड्राइवर, चिलम, छोटी कैंची, और तार को पीटकर बनाया हथियार बरामद हुआ है। वहीं जहानाबाद जेल में भी मोबाइल, चाक़ू, चार्जर, खैनी व अन्य आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए हैं। भभुआ जेल से चाकू, बीड़ी, सिगरेट व अन्य आपत्तिजनक चीजे बरामद की गईं।