बिहार के ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन कर रहे अलग-अलग छात्र संगठन एनएसयूआई और एबीवीपी आपस में भिड़ गए. दोनों ही संगठनों के छात्रों ने एक दूसरे पर लाठी-डंडों से हमला किया और विश्विद्यालय कैम्पस को रणक्षेत्र में तब्दील कर दिया. हालात बिगड़ता देख पुलिस भी मौके पर पहुंची और प्रदर्शन कर रहे छात्र पर जमकर लाठी भांजी.

पुलिस प्रदर्शनकारी छात्रों को खदेड़-खदेड़ कर भगाना शुरू किया तब अंत में छात्र कैम्पस से बाहर भागे निकले. पुलिस की मार से कई छात्र गंभीर रूप से घायल भी हो गए हैं.

ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी के चुनाव में छात्र संघ के अध्यक्ष बनी एबीवीपी की मधुमाला के खिलाफ इन दिनों छात्र लगातार प्रदर्शन कर रहे हैं. प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि अध्यक्ष मधुमाला गलत तरीके से पीजी गणित विभाग में नामांकन कर छात्र संघ का चुनाव लड़ीं और अध्यक्ष भी चुनी गईं.

यह पूरा मामला सूचना के अधिकार के तहत पूछे गए सवालों के जबाब में आया. जिसके बाद से लगातार दूसरे सभी छात्र संघ इसके खिलाफ बिगुल फुंक दिया और अध्यक्ष पद से उसे बर्खास्त करने की मांग को लेकर लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है .

इधर दरभंगा के ललित नारायण मिथिला यूनिवर्सिटी के प्रोक्टर ने भी माना कि इन दिनों पढ़ाई के बदले राजनितिक अखाड़े का केंद्र बन गया है. छात्र संघ के चुनाव में फर्जीवाड़े को लेकर अलग-अलग छात्र संगठन आए दिन प्रदर्शन कर रहा है. विश्विद्यालय के सभी विभाग में तालाबंदी कर काम काज पूरी तरह ठप कर देते हैं.