विधानसभा चुनाव प्रचार के क्रम में पीएम मोदी बुधवार को प्राची पहुंचे. उन्होंने कहा कि यह प्रचार अभियान का मेरा दूसरा दिन है. मैंने सौराष्ट्र और दक्षिण गुजरात की यात्रा की है. यहां के लोगों का उत्साह उल्लेखनीय है. मैं देख सकता हूं कि कितनी सारी महिलाएं हमें आशीर्वाद देने आई हैं. उन्होंने सोमनाथ मंदिर, ओबीसी आयोग, गुजरात में पाइप लाइन आदि कई मुद्दों पर कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया.

प्रधानमंत्री ने कहा कि यदि सरदार पटेल नहीं होते, तो सोमनाथ में मंदिर बनना कभी संभव नहीं हा पाता. बिना नाम लिए राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आज कुछ लोग सोमनाथ को याद कर रहे हैं, मुझे उनसे पूछना है, क्या आप अपना इतिहास भूल गए हैं? आपके परिवार के सदस्य, हमारे पहले प्रधानमंत्री वहां पर एक मंदिर बनने के विचार से खुश नहीं थे. जब डॉ. राजेंद्र प्रसाद सोमनाथ मंदिर का उद्घाटन करने आए थे, तो पंडित नेहरू ने अपनी नाराजगी व्यक्त की थी. नर्मदा को लेकर भी उन्होंने कांग्रेस को घेरा. मोदी ने कहा कि सरदार पटेल ने नर्मदा के बारे में सपना देखा, लेकिन आपके परिवार ने यह सपना पूरा नहीं किया.

ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने के मुद्दे को लेकर भी पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ओबीसी समुदायों से वोट मांग रही है, लेकिन उन्होंने ये जवाब नहीं दिया कि इतने सालों में ओबीसी आयोग क्यों नहीं बना. उन्होंने कहा कि हमने कदम उठाया है और लोकसभा में इस बिल को पारित भी करा लिया है लेकिन यह राज्यसभा में रुका हुआ था, जहां कांग्रेस बहुमत में है. उन्होंने यह भी कहा कि मैं कांग्रेस से पूछना चाहता हूं, क्या आप हमारी सेना के खिलाफ हैं? ओआरओपी की मांग 40 वर्षों से लंबित थी. कांग्रेस की सरकारों ने इस बारे में कुछ क्यों नहीं किया? जब चुनाव आ रहे थे तो उन्होंने ओआरओपी के लिए 500 करोड़ रुपये देने की घोषणा की थी जबकि वास्तविक आवश्यकता बहुत अधिक थी. यह फैसला गुमराह करने वाला था. मोदी ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कांग्रेस का विकास मॉडल हैंडपंप है और गुजरात का विकास मॉडल है नर्मदा का पानी पाइपलाइन से घरों में जाना.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here