जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों पर हुए आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर देश के किसानों का गुस्सा फूट पड़ा है. किसानों ने पहले टमाटर की सप्लाई रोकी और अब पाकिस्तान को पान भेजने से भी मना कर दिया है. हालांकि किसानों को इससे लगभग 13 से 15 लाख रुपये का नुकसान होगा. लेकिन किसानों का कहना है कि उन्हें नफे नुकसान की बिल्कुल चिंता नहीं है. जब सरकार पाकिस्तान को पानी न देने जैसा बड़ा कदम उठा सकती है. तो हम देश के लिए इतना तो कर ही सकते हैं.

दरअसल मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले के पनागर, गढ़ीमलहरा, महाराजपुर, पिपट,और महोबा जिलों में पान की बड़े पैमाने पर पैदावार होती है. यहां से देश के अलग-अलग शहरों के साथ ही विदेशों में भी पान सप्लाई किये जाते हैं. जिसमें पाकिस्तान और श्रीलंका जैसे देश प्रमुख हैं. इन देशों में यहां के पान काफी पसंद किये जाते हैं. जिससे यहां पान की खेती करने वाले किसानों को अच्छी आमदनी होती है. लेकिन पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद इन किसानों ने विरोध स्वरुप पकिसत्न को पान न भेजने का फैसला लिया है.

वहीं दूसरी तरफ भारत के टमाटर व्यापारियों और किसानों ने भी पाकिस्तान को टमाटर की सप्लाई भेजने से मना कर दिया है. जिसका असर पाकिस्तान में नज़र आने लगा है. भारत के टमाटरों और सब्जियों की पाकिस्तान की मंडियों में अच्छी खासी मांग है. जिन्हें पाकिस्तानी हाथों हांथ ख़रीद लेते हैं. लेकिन किसानों द्वारा सप्लाई देने से इंकार करने पर पाकिस्तान में सब्जियों के दाम असमान छूने लगें हैं.


पाकिस्तानी सोशल मीडिया पर भी टमाटरों की सप्लाई का मुद्दा छाया हुआ है. सोशल मीडिया पर एक पाकिस्तानी पत्रकार का वीडियो खूब वायरल हो रहा है. इस वीडियों में यह पाकिस्तानी पत्रकार बार-बार तौबा-तौबा कहकर भारत को चेतावनी देना नज़र आ रहा है. इस वीडियों में साफ़ तौर पर सुना जा सकता है कि चैनल42 के इस पत्रकार का कहना है कि भारत ने पाकिस्तान के टमाटर की सप्लाई रोककर बड़ी गलती की है. इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. साथ ही इस पत्रकार ने आने वाले दिनों में टमाटर उगाने की बात भी कही है.पाकिस्तान के इस पत्रकार का नाम कैसर खोखर बताया जा रहा है. जिन्हें लोग जमकर ट्रोल कर रहें हैं.