oversized-baggage-barred-DM

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) में सामान या बड़े बैग लेकर यात्रा करने वालें लोगों को झटका लगने वाला है. जी हां, डीएमआरसी ने 20 स्टेशनों पर ज्यादा भारी या बड़े बैग के साथ एंट्री जल्द ही बंद करने जा रही है. अब यात्री ज्यादा सामान के साथ दिल्ली मेट्रो में यात्रा नहीं कर पाएंगे.

दरअसल डीएमआरसी ने हाल ही में 5 चुनिंदा मेट्रो स्टेशनों पर सामानों की स्क्रीनिंग मशीनों के सामने U-शेप्ड मेटल बैरियर्स इंस्टॉल किए हैं. जो 15 किलो से ज्यादा भारी सामानों या बड़े बैग को सुरक्षा जांच के दौरान लौटा देगा. भारी सामान लेकर यात्रियों को मेट्रो यात्रा करने नहीं दिया जाएगा.

बता दें कि 5 चुनिंदा मेट्रो स्टेशनों में बाराखंबा रोड, आनंद विहार, चांदनी चौक, कश्मीरी गेट और शाहदरा मेट्रो स्टेशनों पर ये U-शेप्ड मेटल बैरियर्स लगाए गए हैं. 20 मार्च से इन स्टेशनों पर सिर्फ 15 किलो तक के वजन वाले बैग, जिसकी ऊंचाई 25 सेंटीमीटर, लंबाई 60 सेंटीमीटर और चौड़ाई 45 सेंटीमीटर या उससे कम होगी उसके साथ एंट्री मिलेगी.

डीएमआरसी के एक प्रवक्ता ने बताया कि ऑपरेशंस एंड मेंटेनेंस एक्ट के तहत इस तरह के बैरियर्स लगाए जा रहे हैं. इसके तहत 15 किलो से ज्यादा भारी बैग और सामानों को सुरक्षा जांच से वापस कर दिया जाएगा.

ध्यान रहे – अगर किसी यात्री ने टोकन ले लिया है और उसे ओवरसाइज बैग या 15 किलो से ज्यादा सामान के चलते एंट्री नहीं मिली, तो वह अपना टोकन वापस करके पैसे वापस ले सकेगा.

डीएमआरसी इन 5 स्टेशनों के बाद जल्द ही 15 और मेट्रो स्टेशनों पर इस तरह के U-शेप्ट मेटल बैरियर्स इंस्टॉल करने की प्लानिंग कर रही है. इन मेट्रो स्टेशनों में आदर्श नगर, आजादपुर, बदरपुर, बॉटनिकल गार्डन, चावड़ी बाजार, दिलशाद गार्डन, गोविंदपुरी, हुडा सिटी सेंटर, इंद्रलोक, करोल बाद, लाल किला, नागलोई, आरके आश्रम मार्ग, रिठाला और नई दिल्ली मेट्रो स्टेशन शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: बिना रीचार्ज सालों-साल करते रहे बात, बस करना होगा यह काम

डीएमआरसी के मुताबिक, मेट्रो ट्रेन में रोजाना 28 लाख लोग सफर करते हैं. पीक आवर्स में ट्रेन में भीड़ होती है. लोग ओवरसाइज सामान के साथ ट्रेनों में सफर करते हैं, जिससे दूसरे यात्रियों को दिक्कत होती है. इसके अलावा सुरक्षा जांच में दिक्कत आने के साथ बैगेज स्कैनर भी खराब होने की शिकायतें बढ़ रही थी. इसलिए ये फैसला लिया जा रहा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here