नई दिल्ली: आगामी लोकसभा चुनावों के मध्येनजर दिल्ली में आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन की अटकलों पर विराम लग गया है. दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने इसका ऐलान किया है. आप और कांग्रेस के बीच गंठबंधन की संभावनाओं को लेकर आज दिल्ली कांग्रेस की मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री ने पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की. जिसके बाद शीला दीक्षित ने कहा कि कांग्रेस ने दिल्ली में अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है.

दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी 6 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार घोषित कर चुकी है आम आदमी पार्टी ने नई दिल्ली संसदीय सीट से बृजेश गोयल, पूर्वी दिल्ली से आतिशी, उत्तर पूर्वी दिल्ली से दिलीप पांडेय, साउथ दिल्ली से राघव चड्ढा, चांदनी चौक से पंकज गुप्ता और उत्तर पश्चिम दिल्ली से गुगन सिंह को उम्मीदवार बनाया गया है.

वहीं अगर कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस में एक खेमा आप के साथ गठबंधन के पक्ष में नहीं था. वहीं बीते दिनों दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा था कि अगर आप और कांग्रेस अलग-अलग चुनाव लड़ती है, तो इसका फायदा भाजपा को होगा.इसके साथ ही उनका कहना था कि आप की तरफ से कांग्रेस के साथ गठबंधन की पूरी कोशिश हुई लेकिन कांग्रेस इसके पक्ष में नहीं है.

बीते दिनों राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार के आवास पर विपक्षी नेताओं की हुई बैठक में राहुल गांधी दिल्ली में आप के साथ गठबन्धन के संकेत दिए थे.जिसके बाद चंद्रबाबू नायडू औरममता बनर्जी ने राहुल गांधी से इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस नेताओं के साथ चर्चा करने की बात कही थी.