इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी सारा बुधवार को गुजरात के अहमदाबाद पहुंचे, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनकी अगवानी की. दोनों नेताओं ने एक बंद कार में अहमदाबाद में रोड शो किया. अहमदाबाद एयरपोर्ट से साबरमती रिवर फ्रंट होते 8 किमी के रोड शो के बाद मोदी नेतन्याहू और उनकी पत्नी के साथ साबरमती आश्रम पहुंचे. जहां उन्होंने गांधीजी को श्रद्धांजलि दी. यहां दोनों नेताओं ने करीब आधा घंटा बिताया.

नेतन्याहू और उनकी वाइफ सारा ने साबरमती आश्रम में चरखा चलाया और पतंग भी उड़ाई. साबरमती आश्रम में नेतन्याहू, उनकी पत्नी और मोदी बरामदे में बैठे. मोदी ने उन्हें गांधीजी और आश्रम से जुड़ी काफी चीजें बताईं. दोनों पीएम यहां बनासकांठा के देव ढोलेरा गांव में आईक्रिएट सेंटर का इनॉगरेशन करेंगे. उसके बाद यहां से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए दोनों नेता बनासकांठा के सुईगाम तालुका को मोबाइल वॉटर डिजलाइनेशन वैन भी देंगे. इस वैन के जरिए समुद्र के खारे पानी को पीने योग्य बनाया जाता है.

अहमदाबाद में किसी विदेशी नेता के साथ प्रधानमंत्री मोदी का यह दूसरा रोड शो था. पिछले साल सितंबर में मोदी ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के साथ भी अहमदाबाद में रोड शो किया था. वहीं 2014 में भारत दौरे पर आए चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग भी मोदी के साथ साबरमती आश्रम गए थे.

गौरतलब है कि इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू 6 दिन के भारत दौरे पर हैं. इसा दौरे में अब तक भारत और इजरायल के बीच डिफेंस-पेट्रोलियम समेत 9 करार हो चुके हैं. मंगलवार को नेतन्याहू दम्पती ताजमहल देखने आगरा गए थे, जहां से लौटने के बाद नेतन्याहू रायसीना डायलॉग के थर्ड एडिशन के इनॉगरेशन में शामिल हुए. इस मौके पर बेंजामिन नेतन्याहू ने कहा कि यहूदी इतिहास से हमें जो सबसे बड़ा सबक मिला है, वो ये है कि केवल ताकतवर ही जिंदा रहते हैं, कमजोर लोग नहीं. ताकतवर होने पर ही आप शांति स्थापित करने में सफल हो सकते हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here