जम्मू-कश्मीर: सुरक्षाबलों ने पुलवामा हमले के बाद जो ऑपरेशन 60 शुरू किया था वो लगातार जारी है। घाटी में सक्रिय आतंकियों के खात्मे का सिलसिला जारी है। जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच भीषण मुठभेड़ हुई, इसमें तीन आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया। मारे गए आतंकियों में जैश-ए-मोहम्मद का डिस्ट्रिक्ट कमांडर मुद्दसिर खान भी शामिल है। जबकि अन्य दो आतंकियों की पहचान की जा रही है।

जैश-ए-मोहम्मद का डिस्ट्रिक्ट कमांडर मुद्दसिर खान को पुलवामा हमले का साज़िशकर्ता बताया जा रहा है। कहा जा रहा है की सीआरपीएफ के जिस टुकड़ी पर फिदाइन हमला किया गया था उसका ब्लू प्रिंट तैयार करने में मुद्दसिर खान भी शामिल था। पेशे से इलेक्ट्रीशियन मुद्दसिर ने 2017 में जैश-ए-मोहम्मद ज्वाइन किया था। वह आदिल अहमद डार के संपर्क में था और पुलवामा हमले की साजिश में शामिल था।

सुरक्षाबलों ने दक्षिण कश्मीर के पुलवामा जिले के त्राल इलाके में आतंकियों के सक्रिय होने की खबर मिली थी। जिसके बाद तरल के पिंगलिश में घेराबंदी की और तलाशी अभियान शुरू किया था। तलाशी अभियान के दौरान उस वक्त मुठभेड़ हो गई जब आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोली चलाई, जिस पर जवाबी कार्रवाई की गई।

अब तक सेना ने 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद से अब तक जैश-ए-मोहम्मद के 16 आतंकियों का खात्मा किया हैं।

जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी आदिल अहमद डार ने ही पुलवामा में आतंकी हमला किया था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए थे। इसी के बाद से ही सुरक्षाबलों ने घाटी में फैले जैश के आतंकियों को निशाने पर लिया था।