आर्थिक तंगी का सामना कर रहे जेट एयरवेज के एक कर्मचारी ने आत्महत्या कर ली है. मृतक की पहचान शैलेश सिंह के रूप में हुई है जो जेट एयरवेज में सीनियर टेक्निशियन के तौर पर कार्यरत थे. खुलासा हुआ है कि शैलेश कैंसर की बीमारी और आर्थिक तंगी को लेकर तनाव के दौर से गुजर रहा थे. उन्होंने मुंबई से लगे पालघर जिले के नालासोपारा ईस्ट इलाके में 4 मंजिला इमारत से कूदकर आत्महत्या कर ली.गौरतलब है कि जेट एयरवेज आर्थिक संकट के बाद यह उसके किसी कर्मचारी के खुदकुशी करने का पहला मामला है.

बताया जा रहा है कि शैलेश पिछले 3 सालों से पेट के कैंसर से पीड़ित थे. बीते शुक्रवार को ही उन्हें छुट्टी मिली थी. शैलेश सिंह के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटे और दो बेटियां हैं. उनका एक बेटा जेट एयरवेज में ही कार्यरत है, जिसे कंपनी की वेतन नहीं मिल रहा हैं.

पुलिस अधिकारियों के मुताबिक पेट के कैंसर से जूझ रहे शैलेश कुमार को इलाज के बाद भी दर्द से राहत नहीं मिली थी जिसे लेकर वे बेहद तनाव में थे. वहीं दूसरी तरफ पुलिस को अभी तक कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है.
हालांकि पुलिस ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि वह सुनील अभी भी जेट एयरवेज कर्मचारी थे या नहीं? जबकि उनके परिवार ने कहा है कि वह बिना वेतन के छुट्टी पर थे.

मिली जानकारी के मुताबिक आर्थिक स्थिति ख़राब होने के बावजूद भी सुनील ने कीमोथेरेपी और दुसरे इलाज पर काफी पैसे खर्च किये. लेकिन उन्हें दर्द से राहत नहीं मिली. जिसके चलते वे काफी चिंतिंत रहते थे. आखिरी बार उन्हें नालासोपारा ईस्ट के ओसवाल नगरी के साईं पूजा अपार्टमेंट की छत पर बैठे देखा गया. इस बीच जब लोगों ने उनसे नीचे आने के लिए कहा तो उन्होंने छत से छलांग लगा दी. जिसके बाद उन्हें उन्हें एलायंस अस्पताल ले जाया गया.जहां डाक्टर्स ने उन्हें मृत घोषित कर दिया .