हिमाचल प्रदेश में भााजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार प्रेम कुमार धूमल चुनाव हार गए हैं. दो बार हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे कद्दावर नेता धूमल सुजानपुर सीट से भाजपा उम्मीदवार थे. कांग्रेस उम्मीदवार राजेंद्र राणा ने धूमल को चुनावी पटकनी दी है. गौर करने वाली बात यह है कि राजेंद्र राणा को धूमल का चेला कहा जाता है. लेकिन धूमल से ही सियासत सीखने वाले राजेंद्र राणा ने उन्हें तीन हजार से ज्यादा वोटों से हरा दिया है.

राजेंद्र राणा धूमल के इतने खासमखास थे कि उन्हीं के कंधों पर धूमल के चुनावों का सारा दारोमदार हुआ करता था. भाजपा सरकार में राजेंद्र राणा सीएम धूमल के पूर्व ओसडी के मित्र थे. धूमल ने ही बाद में राणा को प्रदेश मीडिया सलाहकार समिति का चेयरमैन बनवाया. लेकिन धूमल सरकार के कार्यकाल में ही पैसों की लेन-देन को लेकर धूमल और राणा के रिश्तों में खटास आ गई. इसके बाद राणा ने भाजपा से रिश्ता तोड़ लिया. राजेंद्र राणा ने साल 2012 के विधानसभा चुनाव में निर्दलीय चुनाव लड़ते हुए भारी अंतर से जीत हासिल की थी. गौरतलब है कि बीते 9 नवंबर को हिमाचल में रिकॉर्ड 75.28 फीसदी मतदान हुआ था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here