छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में एक अजीबो गरीब मामला सामने आया है. जहां एक दूल्हे ने दो दुल्हनों के साथ एक ही मंडप में शादी कर ली. लेकिन हैरत की बात ये है कि उसमें से एक उसकी पहली पत्नी है. यह अनोखी शादी इलाक़े में चर्चा का विषय बनी हुई है

मिली जानकारी में मुताबिक दूल्हा बने सीआरपीएफ के जवान अनिल की गांव में ही चार साल पहले शादी हुई थी. हालाकिं इसके बावजूद अनिल को गांव की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से प्रेम हो गया.  इस दौरान वह वाराणसी में पोस्टिंग के दौरान छुट्टियों में गांव आया करते थे. इसी बीच  अनिल को गांव की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता से भी प्रेम हो गया. इस प्रेम प्रसंग की खबर जब घरवालों को हुई तो परिवार और समाज के लोगों के आपस में बैठक की. इस बैठक में अनिल की पत्नी ने पति के प्रेम प्रसंग को लेकर कोई ऐतराज नहीं जताया. जिसके बाद अनिल और उसकी प्रेमिका की शादी का रास्ता साफ हो गया. लेकिनअनिल ने पहली पत्नी को नहीं छोड़ा और उन्होंने दोनों के साथ एक ही मंडप में शादी कर ली.

पूरे रीतिरिवाज और धूमधाम से हुई इस शादी में गांव वालों के साथ ही अनिल के सभी रिश्तेदार भी शरीक हुए. इस दौरान अनिल की पहली पत्नी और उसकी प्रेमिका को दुल्हन बनाकर एक ही मंडप में बैठाया गया. गौरतलब है कि अपने परिवार की इकलौती संतान अनिल को पहली पत्नी से कोई संतान नहीं है.  जिसके चलते उन्होंने दूसरी शादी की और परिवार वालों ने उनका साथ दिया. लेकिन हिंदू मैरिज ऐक्ट के तहत पहली पत्नी के रहते  हुए  दूसरी शादी करना गैरकानूनी माना जाता है.  कानूनन दूसरी शादी करने से पहले पहली पत्नी को तलाक देना जरुरी है.